Power supply can be interrupted due to repair of plants

  • वैकल्पिक बिजली आपूर्ति के लिए महावितरण का प्रयास

पुणे. महापारेषण के रास्ता पेठ जीआईएस 132 केवी अति उच्चदाब उपकेंद्र में शनिवार 26 दिसम्बर को सुबह 8 बजे से रविवार 27 दिसम्बर की रात 8 बजे तक बिजली संयंत्रों की मरम्मत का काम किया जाएगा. 

महावितरण (Mahavitaran) के 6 उपकेंद्रों की बिजली आपूर्ति (Power supply) करीब 36 घंटे बंद (Close) रहेगी. इस स्थिति में पेठों के परिसर में वैकल्पिक प्रबंध करते हुए बिजली आपूर्ति सुचारू रखी जाएगी. ऐसी जानकारी महावितरण की ओर से दी गई है.

वैकल्पिक प्रबंध के लिए हो रहे प्रयास

इस संदर्भ में जारी विज्ञप्ति मे कहा गया है कि महापारेषण के 132 केवी उपकेंद्र की बिजली आपूर्ति बंद रहने के कारण महावितरण को करीब 60 से 65 मेगावैट बिजली आपूर्ति का नियोजन करना पड़ेगा. इस समय ठंड काफी बढ़ गई है और शनिवार-रविवार को अवकाश होने के चलते बिजली की मांग काफी बढ़ सकती है. ऐसे में बिजली आपूर्ति का नियोजन ना होने पर शहर के मध्य परिसर में कुछ समय के लिए लोडशेडिंग भी करनी पड़ सकता है, लेकिन यह स्थिति ना आएं, इसके लिए वैकल्पिक बिजली आपूर्ति के लिए प्रयास किए जा रहे है. इसके लिए मुख्य अभियंता सचिन तालेवार ने पूरी बिजली आपूर्ति के प्रबंध का जायजा लिया है और सभी अधिकारी-कर्मचारियों को उचित निर्देश दिए है.

इन इलाकों में बिजली आपूर्ति होगी बाधित

राज्य के पहले जीएसआई 132 केवी अति उच्चदाब उपकेंद्र 9 वर्ष पहले रास्ता पेठ परिसर में शुरू किया गया था. इस उपकेंद्र में मेन बस और गैस चेंबर की तकनीकी देखभाल और मरम्मत का कार्य महापारेषण की ओर से किया जाना है. जिससे बिजली आपूर्ति में बाधा आ सकती है और शहर के रास्ता पेठ, पद्मावती और पर्वती विभाग के तहत कसबा पेठ, सोमवार पेठ, मंगलवार पेठ, रविवार पेठ, बुधवार पेठ, रास्ता पेठ, भवानी पेठ, नाना पेठ, पुराना मोदी खाना, कैम्प का कुछ परिसर, गुलटेकडी, गंज पेठ, सैलिसबेरी पार्क, घोरपडे पेठ, डायस प्लॉट, लोहिया नगर, हाइड पार्क, महर्षि नगर, मुकुंद नगर परिसर में महावितरण की ओर से वैकल्पिक बिजली उपलब्ध कराई जाएगी या फिर चक्राकार स्थिति में कुछ समय के लिए लोडशेडिंग किया जाएगा. ऐसी जानकारी महावितरण की ओर से दी गई है.