File
File

    Loading

    पुणे: अभी तक तीन ठेकेदारों (Contractors) ने घटिया काम के चलते पुणे महानगरपालिका (PMC) को 3.72 लाख रुपए का जुर्माना (Fine) अदा किया है। डिफेक्ट लायबिलिटी पीरियड (DLP) के दौरान सड़कों पर गड्ढे (Potholes) होने के बावजूद कार्रवाई में अभी तक तेजी नहीं आई है। इस बीच, 15 वार्ड कार्यालयों में से नौ वार्ड कार्यालयों ने डीएलपी में 640 सड़कों की सूची पीएमसी को सौंपी है। 

    बरसात के दिनों में सड़कों पर कीचड़ के कारण वाहन चालकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। भले ही डीएलपी की अवधि तीन साल थी, लेकिन सड़कों पर गड्ढे पद गए थे।  कुछ सड़कों का निर्माण चार-पांच महीने पहले ही हुआ था, लेकिन आज वे खराब स्थिति में हैं। 

     निरीक्षण कर रिपोर्ट सौंपी

    डीएलपी में 139 सड़कें पीएमसी के मुख्य सड़क विभाग के अधीन हैं, उनका निरीक्षण कर रिपोर्ट सौंप दी गई है। प्रशासन ने एक गड्ढे (एक वर्ग मीटर) के लिए लागत का तीन गुना यानी पांच हजार रुपए जुर्माना लगाने का फैसला किया है। कई सड़कों में गड्ढे होने के बावजूद अभी तक सिर्फ पांच सड़कों पर कार्रवाई हुई है, जिसमें से तीन ठेकेदारों ने उन पर लगा जुर्माना जमा कर दिया है। 

    कंपनियों ने भरा ज़ुर्माना 

    इसमें कात्रज एस.एस. कंस्ट्रक्शन में निर्मित नैंसी लेक होम्स लेक टाउन पद्मजा पार्क रोड पर एक लाख 32 हजार 990 रुपए का जुर्माना लगाया गया। गणेश इंटरप्राइजेज कंपनी ने देसाई अस्पताल मेन रोड और दीपक कंस्ट्रक्शन में गड्ढे होने पर दो लाख 30 हजार रुपए का जुर्माना भरा। सड़क विभाग के प्रमुख वी.जी. कुलकर्णी ने बताया कि धायरी में श्री कंट्रोल चौक से कालूबाई मंदिर मार्ग पर काम कर रहे एजेंसी पर 10 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है। 

    9 वार्ड कार्यालयों द्वारा दी गई जानकारी

    12 मीटर से कम चौड़ी सड़कों के लिए क्षेत्रीय कार्यालय जिम्मेदार हैं। सड़कों पर बड़ी संख्या में गड्ढे होने के कारण गलियों का काम भी उपेक्षित रहा। इन सड़कों की गुणवत्ता खराब होने के कारण अपर आयुक्त डॉ. कुणाल खेमनार ने क्षेत्रीय कार्यालयों को सड़कों की जानकारी डीपीएलपी में जमा करने का आदेश दिया। छह वार्ड कार्यालयों ने इसकी जानकारी मुख्य सड़क विभाग को दी। इनमें औंध बानेर वार्ड कार्यालय में 93 सड़कें, शिवाजीनगर घोले रोड कार्यालय 11, कोथरुड बावधन कार्यालय 81, वारजे कर्वे नगर 150, हडपसर मुंडवा 58, वानवडी रामटेकडी कार्यालय 68, कोंढवा येवलेवाडी कार्यालय 110, कस्बा विश्रामबाग 51, बिबवेवाड़ी वार्ड कार्यालय 18 शामिल हैं। रिपोर्ट में कुल 640 सड़कों को शामिल किया गया है।