IGM अस्पताल में उपचार सुविधा बढ़ाने के निर्देश

भिवंडी. पावरलूम नगरी समेत ग्रामीण क्षेत्र के लाखों गरीब लोगों को उपचार सुविधा प्रदान करने वाला भिवंडी शहर के एकमात्र आईजीएम अस्पताल (IGM Hospital) को राज्य सरकार द्वारा जिला अस्पताल की मान्यता दिए जाने के बावजूद शासन की तरफ से मरीजों को कोई जरूरी सुविधा प्रदान नहीं की गई है।

समुचित उपचार सुविधा न होने से मरीजों को स्वास्थ्य उपचार संबंधी अनेक प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। विगत दिनों प्रसूति विभाग में एक गर्भवती महिला के साथ किए गए दुर्व्यवहार को लेकर हेल्थ डाइरेक्टर डॉ. संध्या तायड़े  (Health Director Dr. Sandhya Taide) ने आईजीएम अस्पताल का औचक निरीक्षण किया।इस दौरान अस्पताल में उपचार सुविधाएं बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं.

हेल्थ डाइरेक्टर तायड़े ने स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (Health Minister Rajesh Tope) के निर्देश पर समाजवादी पार्टी विधायक रईस शेख की अध्यक्षता में एक बैठक ली। उक्त बैठक में स्वास्थ्य उपसंचालक डॉ. राठौड़, ठाणे जिला अस्पताल सर्जन डॉ. कैलास पवार, मनपा मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. के. आर. खरात, आईजीएम  चिकित्साधीक्षक डॉ. राजेश मोरे एवं अस्पताल के अन्य अधिकारी उपस्थित थे। स्वास्थ्य विभाग द्वारा पीड़ित महिला के साथ हुए दुर्व्यवहार की जांच हेतु 3 सदस्यों की एक कमेटी बनाई गई है।