6 शातिर चोर चढ़े पुलिस के हत्थे

कल्याण. मानपाड़ा पुलिस  (Manpada Police) ने 6 ऐसे शातिर  चोरों  को गिरफ्तार किया है, जिन पर अलग-अलग पुलिस थानों में विभिन्न धाराओं के तहत कई मामले दर्ज हैं। गिरफ्तार चोरों के पास से पुलिस ने 3 लाख से अधिक का सामान बरामद किया है, जिसमें ऑटो रिक्शा, टीवी, मोबाइल सहित कीमती आभूषण आदि का समावेश है. पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार डोंबिवली क्षेत्र में चोरी की वारदात बढ़ती ही जा रही थी।

जिसे देखते हुए एसीपी जे. डी. मोरे ने मनापाड़ा पुलिस थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक डी. हरीचौरे के मार्गदर्शन में पुलिस निरीक्षक बालासाहेब पवार, सुरेश मदने, सुरेश डांबरे, अंनत लांब, सुधाकर भोसले सहित कुछ अन्य पुलिस वालों की एक टीम तैयार कर चोरों की तलाश में जुट गए।

बालासाहेब पवार व उनकी टीम चोरी के स्थान के सीसीटीवी फुटेज में संदेहास्पद दिखने वाले शहजाद अंसारी, समीर शेख, सद्दाम हुसैन शेख, विनय प्रजापति, कृष्णा कुसलकर और शुभम पेटेकर को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की, तो उन्होंने अपना गुनाह कुबूल कर लिया। जिसके बाद पुलिस ने उनके द्वारा चुराए हुए ऑटो रिक्शा, टीवी, मोबाइल, बैटरी, सोने का चेन सहित अन्य सामान बरामद किया, जिसकी बाजार में कुल कीमत 3 लाख 36 हजार 377 रुपए है। गिरफ्तार चोरों के ऊपर विभिन्न पुलिस थानों में पहले से ही कई मामले दर्ज है. गिरफ्तार चोरों को कोर्ट ने पुलिस हिरासत में भेज दिया है।

ठाणे में भी 3 शातिर चोर गिरफ्तार

ठाणे पुलिस की क्राइम ब्रांच की यूनिट-5 की टीम ने भी ठाणे शहर और आसपास घरों में चोरी करने वाले 3 शातिर चोरों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए कुणाल जगताप, अमित जगताप तथा दीपक धनवाल को पुलिस हिरासत में रखा गया है। कुणाल जगताप तथा अमित जगताप हिस्ट्रीशीटर हैं और दोनों के खिलाफ घरफोड़ी तथा जबरी चोरी के 50 से अधिक मामले विभिन्न पुलिस स्टेशनों में दर्ज हैं। अमित जगताप को ठाणे रेलवे पुलिस ने तड़ीपार भी किया था। दीपक धनवाल के खिलाफ कोपरी, श्रीनगर तथा वर्तकनगर में घरफोडी के 5 तथा ऑटोरिक्शा चोरी का 1 मामला दर्ज है। 

कुणाल तथा अमित जगताप के पास से पुलिस ने 1 लाख 51 हजार मूल्य के चाँदी और सोने के गहनों को और दीपक के पास से 1 लाख 73 हजार 650 के गहने, टीवी सेट, सिलेंडर और ऑटो जब्त किया है।  कोपरी पुलिस स्टेशन की सीमा में स्थित वसंत चव्हाण के घर की कड़ीकुंडी को तोड़ कुणाल तथा अमित जगताप ने 12 तारीख को 3 लाख 9 हजार के गहनों पर हाथ साफ़ किया था। डीसीपी लक्ष्मीकांत पाटिल तथा एसीपी किसन गवली के मार्गदर्शन में सीनियर पीआई विकास घोड़के के नेतृत्व में पीआई अरुण क्षीरसागर, एपीआई अनिल सुरवसे, एपीएसआई शरद तावड़े, कांस्टेबल राजेश क्षत्रिय, शिवाजी रायसिंघ, दिलीप शिंदे, विजय कुमार गोरहे की टीम ने तीनो चोरों को पकड़ने में सफलता पायी।