Reduce tax on petrol and diesel, Bhiwandi BJP demands

    भिवंडी: भिवंडी भाजपा (Bhiwandi BJP) शहर जिला अध्यक्ष संतोष शेट्टी के नेतृत्व और केंद्रीय पंचायत राज राज्य मंत्री कपिल पाटिल और विधायक महेश चौघुले के मार्गदर्शन में एक प्रतिनिधिमंडल भिवंडी उपविभागीय अधिकारी को एक ज्ञापन (Memorandum) सौंप कर महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) से पेट्रोल (Petrol) और डीजल (Diesel) पर वैट (VAT) और अन्य करों में कमी की मांग की गई है। 

    उक्त प्रतिनिधिमंडल में भिवंडी शहर जिला भाजपा अध्यक्ष संतोष शेट्टी, महानगरपालिका में भाजपा गट नेता हनुमान चौधरी, जिला महासचिव राजू गजेंगी, कोंका मल्लेशम, अविनाश शिकची, विजय धुले, सत्वशिला जाधव, युवा अध्यक्ष राजू चौगुले, महिला अध्यक्ष ममता परमाणी, मधुकर जगताप, जिला प्रसिद्धि प्रमुख पीडी यादव,नंदन गुप्ता, डिंपल व्यास सहित अन्य पदाधिकारी शामिल थे।

    राज्य सरकार दे लोगों को राहत

     गौरतलब है कि भिवंडी उपविभागीय अधिकारी को सौंपे गए ज्ञापन में मांग की गई है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर करों में क्रमश: 5 रुपए और 10 रुपए की कटौती की है।  राज्य में महाविकास अघाड़ी सरकार को केंद्र सरकार से सीख लेकर पेट्रोल, डीजल के कीमतों की घटा कर और वैट और अन्य करों को कम करके लोगों को राहत देनी चाहिए।

    वैट कम करने में राज्य सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया

     भिवंडी शहर भाजपा जिलाध्यक्ष संतोष शेट्टी ने अपने बयान में कहा कि महाविकास अघाड़ी के घटक दलों ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के खिलाफ लगातार आंदोलन किया था। अब जबकि केंद्र ने ईंधन पर कर कम कर दिया है, आम आदमी को उम्मीद है कि गठबंधन सरकार ईंधन पर सभी करों को कम करेगी।  हालांकि, ईंधन कीमतों में वृद्धि के खिलाफ आंदोलन के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराने वाली गठबंधन सरकार की पार्टियों ने अभी तक राज्य सरकार के टैक्स को कम करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया है।  इससे सिद्ध होता है कि गठबंधन सरकार में घटक दलों का आंदोलन महज दिखावा था। भारतीय जनता पार्टी शासित राज्य सरकारों ने तत्काल करों में कटौती की है।  देश के 22 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों ने अपने करों में कमी की है और लोगों को पेट्रोल और डीजल की दरों पर अधिक रियायतें दी हैं।