Photo:@ ANI/ Twitter
Photo:@ ANI/ Twitter

    मुंबई: महाराष्ट्र में पिछले कुछ दिनों से राज्य बीजेपी (BJP) की ओर शिवसेना (Shiv Sena) के हिंदुत्व पर लगातार उठाए गए सवाल उठाये जा रहे है। वहीं, मनसे प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray) ने मस्जिदों से लाउडस्पीकर उतारने का मुद्दा, जबकि नवनीत राणा (Navneet Rana) का हनुमान चालीसा पाठ का मुद्दा जैस कई मुद्दों के जवाब देने के लिए शनिवार को राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) की हुंकार रैली हुई। शिवसेना की यह विशाल सभा मुंबई के बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स में हुई। जहां सीएम उद्धव ठाकरे ने अपने भाषण की शुरुआत में छत्रपति संभाजी महाराज को याद करते हुए कहा कि, संभाजी राजे की आज जयंती है। 

    उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘देवेंद्र फडणवीस ने हमें कहा था कि ये गदाधारी नहीं गधाधारी हैं। सही कहा लेकिन जो गधे थे हमने उन्हें ढाई साल पहले छोड़ दिया। उन गधों का कोई इस्तेमाल नहीं। गधे हमें लात मारे, उससे पहले हमने गधों को लात मार दिया।’

    वहीं, सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘1 मई की रैली में बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस गलती से बोल गए कि मुंबई को आजाद करेंगे। मुंबई को अलग करने का जो खयाल भी लाएगा मुंबई की जनता उसे छोड़ेगी नहीं। मुंबई तोड़ने की साजिश हम सफल नहीं होने देंगे। मुंबई को आजाद कराने वालों आज मुंबई गुलाम है क्या? संयुक्त महाराष्ट्र की लड़ाई लड़ने वाले पांच योद्धाओं में हमारे दादा प्रबोधनकार ठाकरे थे। संयुक्त महाराष्ट्र की लड़ाई में ये बीजेपी वाले कहां थे?’

    कश्मीरी पंडितों को घर घुस कर मारा 

    मुंबई में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि, जम्मू-कश्मीर में तहसील कार्यालय में आतंकियों ने कश्मीर पंडित राहुल भट को मार गिराया, राहुल भट्ट सरकारी कर्मचारी थे। सुरक्षा मांगते-मांगते चले गए।  लेकिन उनका ट्रांसफर नहीं किया गया। अब आप (भाजपा) क्या करेंगे? क्या आप वहां पढ़ेंगे हनुमान चालीसा। 

    महंगाई को लेकर भाजपा सरकार को घेरा 

    सीएम ने कहा कि, ‘हमें हिंदुत्व पर बोलने की जरूरत नहीं। हिंदुत्व हमारी सांस है। लेकिन एक सवाल पर सब चुप हैं वो है महंगाई। कोरोना को लेकर दिल्ली में बैठक हो रही थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमसे कहा कि आप अपने राज्य में पेट्रोल-डीजल पर वैट कम कीजिए। मुझे समझ नहीं आया कि इसका कोरोना से क्या संबंध है? 

    उन्होंने आगे कहा कि, ‘जब पेट्रोल का भाव सात पैसे बढ़ गए थे तब अटल बिहारी वाजपेयी संसद तक बैलगाड़ी में पैदल गए थे। यह तब की बीजेपी थी।  ये अब की बीजेपी है। आज पेट्रोल-डीजल का भाव देखो, कहां जा रहा है? संवेदनशील बीजेपी आज कहां चली गई?’

    दिया जाएगा करारा जवाब 

    मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘मैं आपको चेतावनी दे रहा हूं, अगर आप झूठे मामले दर्ज करने और मेरे लोगों को परेशान करने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल करेंगे तो हम चुप नहीं रहेंगे, करारा जवाब दिया जाएगा और आप में से किसी को भी नहीं बख्शा जाएगा।’