चैम्बर में मिले शिशु के अवशेष; गर्भपात प्रकरण में आया नया मोड, तीनों आरोपियों की जेल रवानगी

    आर्वी. 13 वर्षीय बालिका के गर्भपात मामले ने अब नया मोड ले लिया है़ पुलिस की जांच में आज धक्कादायक जानकारी सामने आने से सभी के होश उड गए़ अस्पताल के पिछेले हिस्से में स्थित गोबरगैस के चेम्बर में नवजात के अवशेष मिलने से हडकमप मच गया़ डा़ रेखा कदम व अन्य दो आरोपियों को न्यायालय में पेश करने पर तीनों की जेल में रवानगी कर दी गई है़ 

    बता दें कि, कदम अस्पताल में 13 वर्षीय बालिका के गर्भपात मामले में पुलिस ने डा़ रेखा कदम को हिरासत में लिया था़ जबकि उसपर हुए अत्याचार प्रकरण में आरोपी किशोर के माता-पिता को भी पुलिस ने अरेस्ट किया था़ प्रकरण की गंभीरता को समझते हुए आर्वी पुलिस ने विस्तृत जांच शुरु कर दी़ इस दौरान आरोपियों का एक दिन का पीसीआर भी बढाया गया था़.

    बुधवार की सुबह उपविभागीय पुलिस अधिकारी सालुंखे के निर्देश पर जांच अधिकारी ज्योत्स्ना गिरी व टीम ने कदम अस्पताल की छानबीन की़ इसमें काफी संदेहास्पद बाते सामने आयी़ पुलिस ने अस्पताल के पिछले हिस्से में बारिकी से जांच की़ अस्पताल की वेस्टेज मेडीसीन व सामग्री जिस गोबर गैस के चेम्बर में डिस्ट्रॉय की जाती हैं वहां पर चौकानेवाली बात सामने आयी़ पुलिस ने चेम्बर से नवजात शिशुओं के करिब 40 से 50 अवशेष बरामद किए़ इसमें शरिर की छोटी हड्डियां, खोपडी का समावेश है़.

    पुलिस ने उपजिला अस्पताल के वैद्यकीय अधिकारी डा़ हेमंत पाटील व पंचो के समक्ष अवशेष कब्जे में ले लिए़ इसके अलावा पुलिस ने अस्पताल की सोनोग्रापी मशीन व कुछ दस्तावेज भी जब्त करने की जानकारी है़ शिशुओ के अवशेष को केमिकल व डीएनए टेस्ट के लिए नागपुर की लैब में भेजे गए है़.

    प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए इसमें और आरोपी बढने की संभावना है़ पुलिस कस्टडी खत्म होने से डा़ रेखा कदम, किशोर सहारे, नलू सहारे को बुधवार को न्यायालय में पुन: पेश किया गया था़ जहां से तीनों आरोपियों को जेल में रवानगी कर दी है़ प्रकरण में आगे की जांच डीवाईएसपी सालुंखे, थानेदार भानुदास पिदुरकर के मार्गदर्शन में पोस्को सेल की पीएसआई ज्योत्स्ना गिरी व टीम कर रही है़