Big action in case of illegal property construction in Maharashtra, FIR registered against 18 people including five former municipal commissioners
File Photo

    वर्धा: सड़क निर्माण के लिए आवश्यक मुरुम की खुदाई कर रहे कंपनी के मैनेजर से 30 हजार रुपए की फिरौती लेने के बाद भी फिर 10 हजार मांगने वाले फर्जी पत्रकार के खिलाफ आर्वी पुलिस ने मामला दर्ज किया. सावलापुर निवासी धनानंद रामप्रवेश त्रिपाठी सोनू इन्फ्राटेक, जामनगर, गुजरात की कंपनी में मैनेजर है. वह रोड का सबग्रिडींग व अर्थवर्क का काम करते है. त्रिनेवा इन्फ्रा कंपनी को आर्वी से वर्धा रोड का काम 2019 में मिला था. उस वक्त त्रिपाठी की कंपनी को वर्ष 2019 में बेडोना से आर्वी रोड के अर्थवर्क का काम दिया गया.

    रोड पर मुरुम डालने, लेवलिंग करने आदि काम का समावेश था. इसके लिए सारंगपुरी तालाब के समीप अकिल शेख के मालकियत की टेकड़ी लीज पर ली थी. विभाग की अनुमति लेकर मुरुम निकालने का काम शुरू किया. आर्वी निवासी मिथुन कोरडे ने सारंगपुरी तालाब पर पहुंचकर टेकड़ी पर अवैध उत्खनन करने की बात कहकर फोटो निकालकर फिरौती की मांग की. उसकी मांग पर 10 हजार रुपए दिए गए. इसके बाद भी कोरडे कार्य में बाधा उत्पन्न कर रहे थे. पुन: 20 हजार की मांग करने पर दिए गए. 

    धमकाने पर पहले दिए थे 20,000 रु. 

    पश्चात 15 जून को सुबह 11 बजे सारंगपुरी तालाब के समीप काम करते समय कोरडे ने फिर 10 हजार रुपए की मांग की. रुपए देने से इंकार करने पर टिप्पर रोककर  कार्रवाई की धमकी दी. पहले ही 30 हजार देने के बाद फिर से 10 हजार की फिरौती मांगने से त्रस्त  त्रिपाठी ने आर्वी थाना में शिकायत दर्ज की. पुलिस ने कोरडे के खिलाफ मामला दर्ज किया.