Tadas

    वर्धा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जल जीवन मिशन का (JJM) के अंतर्गत 2 अक्टूबर को जल जीवन मिशन एप व राष्ट्रीय जल जीवन कोष लांच किया़  ताकि गांवों में पेयजल सरलता से उपलब्ध हो सके़  सांसद रामदास तड़स ने राष्ट्रीय जल जीवन कोष अंतर्गत निधि के उपयोग संबंधित अतारांकित प्रश्न उपस्थित किया था़  इसके जवाब में केन्द्रीय जलशक्ति राज्यमंत्री प्रल्हाद सिंह पटेल ने कहा कि देश के प्रत्येक ग्रामीण परिवार को वर्ष 2024 तक पेयजल उपलब्ध कराने के लिए केंद्र सरकार के माध्यम से राज्यों की भागीदारी जल जीवन मिशन चलाई जा रही है.

    समाज को सहयोग करने इच्छुक व्यक्ति, संस्था, कार्पोरेट तथा सामाजिक कार्यकर्ता आदि को इसमें शामिल करने इच्छुक व्यक्ति, संस्था, कार्पोरेट तथा सामाजिक कार्यकर्ता आदि को योगदान के रूप में दान प्राप्त करने के लिए राष्ट्रीय जल जीवन कोष की स्थापना की है़  इसके लिए https://jaljeevankosh.gov.in यह वेबसाइट लांच की गई.

    योजना को नागरिकों को होगा लाभ : तड़स

    अब तक प्राप्त निधि के माध्यम से वर्धा तथा अमरावती जिले समेत देश के अन्य हिस्सों की स्कूलें, आंगनवाड़ी केंद्र, आदिवासी निवासी स्कूल, स्वास्थ्य सेवा केंद्र आदि जगह स्वच्छ पेयजल उपलब्ध किया गया है़  जल जीवन मिशन के अंतर्गत स्थापित किए गए राष्ट्रीय जल जीवन कोष में जमा होने वाली निधि का उपयोग स्कूल, आंगनवाड़ी केंद्र, आदिवासी निवासी स्कूल, स्वास्थ्य सेवा केंद्र इन जगहों पर स्वच्छ पानी उपलब्ध कराने के लिए किया जा रहा है़  इसका फायदा ग्रामीण विभाग के नागरिकों को होगा.