Teachers Protest

    वर्धा. गत तीन वर्षों से बकाया वेतन का बिल कार्यालय में प्रलंबित होने से शिक्षक, कर्मचारियों को काफी आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. इसके विरोध में शिक्षा आयुक्त व शिक्षा संचालक पुणे को शिक्षाधिकारी मार्फत ज्ञापन भेजकर शिक्षकों ने जिप के समक्ष प्रदर्शन किया. आगामी 15 दिनों में बकाया वेतन अदा न करने पर बेमियादी अनशन करने की चेतावनी दी गई.

    यह बकाया वेतन तीन वर्षों में देना अनिवार्य था. परंतु गत तीन वर्षों से यह प्रकरण प्रलंबित होने से शिक्षक कर्मचारियों में रोष निर्माण हो गया है. बकाया वेतन देयकों में बड़े प्रमाण में शिक्षक, कर्मचारी का नियमित वेतन भी शामिल है. ऐसे रहते हुए शासन ने समय समय पर उसके लिए आर्थिक प्रावधान न करने से कार्यालय में प्रलंबित रहा.

    15 दिनों में हल करें समस्या, अन्यथा आंदोलन 

    इससे आगामी 15 दिनों में समस्या हल न करने पर तीव्र आंदोलन करने की चेतावनी मराशिप शिकायत निवारण समिति ने दी. प्रदर्शन में कुंडलिक राठौड़, प्रमोद टिपले, सौरभ वाघ, वीपी गुजरकर, प्रणाली ठाकरे, दत्तात्रय राऊलकर, प्रदिप चोपडे, प्रमोद जामुनकर, किशोर शेन्द्रे, पराग वाघ, नीलेश डाहाके, संजय बारी, रवीन्द्र कोठेकर, मंगला खोपे, अशोक काले मौजूद थे.