Chhagan Bhujbal,Maharashtra
छगन भुजबल

Loading

वर्धा. राज्य में मराठा आरक्षण के मुद्दे के बाद स्थिति गरमाई हुई है. दूसरी ओर ओबीसी से मराठा समाज को आरक्षण देने का विरोध करते हुए संघर्ष शुरु कर दिया है. इसी बीच 16 दिसंबर को सकल ओबीसी घुमंतू विमुकत समाज की ओर से महाएल्गार सभा का आयोजन किया गया है. इसमें ओबीसी नेता व मंत्री छगन बुजबल, प्रकाश अण्णा शेंडगे, महादेव जानकर, चंद्रशेखर बावनकुले, सांसद रामदास तडस, ओबीसी मुस्लीम नेता शब्बीर अन्सारी, डा. बबन तायवाडे, प्रा. लक्ष्मण गायकवाड व अन्य नेता उपस्थित रहकर ओबीसीयों को मार्गदर्शन करेंगे.

सकल ओबीसी घुमंतू विमुक्त समाज, वर्धा जिला के पदाधिकारियों के अनुसार ओबीसी समाज का आरक्षण बचाने, ओबीसी में पिछले दरवाजे से नियमबाह्य होनेवाली घुसखोरी रोखने के लिये महाराष्ट्र में ओबीसी समाज ने जनआंदोलन व अभियान चलाया है. विविध स्थानों पर एल्गार सभा ली जा रही है. आज ओबीसी के आरक्षण पर अतिक्रमण हो रहा है. ओबीसी समाज खतरे में आ गया है. राज्य सरकार पर विविध प्रकार का दबाव बनाया जा रहा है.

धमकिया देकर ओबीसी आरक्षण में अपना आरक्षण मांगा जा रहा़ यह सुनियोजित षड्यंत्र शुरु है, ऐसा आरोप ओबीसी पदाधिकारी कर रह है. अगर ऐसा हुआ तो ओबीसी का राजनीतिक अस्तित्व व ओबीसी के बच्चों का भविष्य खतरे में आ जाएगा़ उन्हें सरकारी नोकरी में मिलनेवाली सहुलियत बंद हो जाएगी. ओबीसी की सुरक्षा के लिये, नई पीढ़ी के भविष्य के लिये, राज्य सरकार को जवाब पूछने के लिये महाएल्गार सभा का आयोजन किया गया है, ऐसा आयोजन समिति के प्रा़ दीवाकर गमे ने बताया. 

विविध दल के नेता दिखेंगे एक मंच पर

16 दिसंबर को वर्धा के लोक महाविद्यालय के मैदान में सुबह 11 बजे आयोजित ओबीसी की महाएल्गार सभा में विविध दल के वरिष्ठ नेता एकमंच पर दिखाई देंगे़ सभा में राकां अजित गुट के छगन भुजबल, ओबीसी संगठन के प्रकाश अन्ना शेंडगे, राष्ट्रीय समाज पार्टी के महादेव जानकर, भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष चंद्रशेखर बावनकुले, भाजपा के वर्धा के सांसद रामदास तडस, डा. बबन तायवाडे, लक्ष्मण गायकवाड सहित अन्य दल के नेता मंच पर मौजूद रहने की संभावना है.