बोगस बीज मिलने पर कार्रवाई करें, पालकमंत्री केदार ने दिए निर्देश, खरीफ मौसम पुर्व जायजा बैठक

    वर्धा. बोगस बीजों से किसानों का भारी नुकसान होता है़ परिणामवश ऐसे बीज अगर बेचते पाये जानेवालों के खिलाफ तथा संबंधित बीज कंननी के वरिष्ठ अधिकारियों पर कार्रवाई करें. साथ ही किसानों ने भी बीज प्रमाणित व अधिकृत होने की गारंटी के बाद ही खरीदारी करने का आह्वान पालकमंत्री सुनील केदार ने किया़  पालकमंत्री की अध्यक्षता में जिला परिषद के सभागृह में खरीफ मौसम पूर्व जायजा बैठक बुलाई गई थी.

    इस बैठक में सांसद रामदास तडस, विधायक रणजीत काबंले, विधायक दादाराव केचे, विधायक समीर कुणावार, जिलाधिकारी प्रेरणा देशभ्रतार, मुकाअ डा़ सचिन ओम्बासे, अतिरिक्त मुकाअ सत्यजीत बढ़े, जिला अधीक्षक कृषि अधिकारी अनिल इंगले, आत्मा के प्रकल्प संचालक डा़ विद्या मानकर सहित विविध विभाग के प्रमुख अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे़ किसानों ने बीज अथवा कोई कृषि सामग्री खरीदी करने पर इसकी रसीद लेनी जरूरी है.

    विक्रेता ने प्रमाणित तथा अधिकृत ही निविष्ठा की बिक्री करनी चाहिए. कृषि सेवा केंद्र की स्वतंत्र बैठक लेने की सूचना भी पालकमंत्री सुनील केदार ने बैठक में की़ किसानों को ने जमीन में कौन सी फसल लेना सुविधाजनक है, यह तय करने के लिए मिट्टी परीक्षण करना जरूरी है.  

    बिजली कनेक्शन शीघ दें : कांबले

    विधायक रणजीत काबंले ने कहा कि प्रलंबित बिजली कनेक्शन शीघ्र दिये जाए़ं  साथ ही बोगस बीज बिक्री होने पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए. विधायक कुणावार ने बोगस बीज मिलने पर कंपनी के संचालक पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए. विधायक दादाराव केचे ने भाऊसाहेब फुंडकर फलबाग योजना के लाभार्थियों के अनुदान वितरण का मुद्दा उपस्थित किया. 

    तहसीलस्तर पर शिकायत बॉक्स

    किसानों को समय पर फसल कर्ज उपलब्ध होना जरुरी है़ फसल कर्ज के संबंध में कुछ शिकायते होने पर इनका समय पर निवारण करने के लिए तहसीलस्तर पर सहकार विभाग के सहा़ निबंधक कार्यालय में शिकायत बॉक्स रखने के निर्देश पालकमंत्री ने दिए़ बॉक्स में किसान ने प्रस्तुत की शिकायत उपनिबंधक स्वयं देखकर इस पर एक्शन ले़. 

    30 मई तक जलकिल्लत के काम करें

    जलकिल्लत के काम तीन चरण में किये जाते है़ं किल्लत के आसार होनेवाले गांवों में समय रहते कामे होना जरूरी है़ कृति प्रारुप में लिये गए सभी काम को मंजूरी देकर 30 मई तक मंजूर किये गए सभी काम पूर्ण करने के निर्देश पालकमंत्री केदार ने बैठक में दिए. 

    8 प्रकल्पों से कीचड़ निकाला जाएगा

    पुणे की ग्रीन थम्ब इस संस्था की ओर से पुणे शहर को जलापूर्ति करनेवाले खड़कवासला बांध से कीचड़ जनसहयोग से निकाला था़ इसी तर्ज पर जिले के आठ प्रकल्पों से भी जनसहयोग से कीचड़ निकाला जाएगा़ ग्रीन थम्ब संस्था के कर्नल सुरेश पाटील ने जनसहयोग से चलनेवाले इस उपक्रम की विस्तृत जानकारी दी.