Crop Damage
File Photo

    आसेगांव. 4 सितंबर की शाम से मौसम में बदलाव आने के कुछ समय बाद से ही आसमान में बादलों की काली परछाई समा गयी. जिस के कुछ देर बाद बिजली की गड़गड़ाहटों के साथ मूसलाधार बारिश शुरु हुई जो लगभग दो घंटो तक जारी रही. इस मूसलाधार बारिश की वजह से खेत खलिहान एक बार फिर से तरबतर हो गए है.

    इस झमाझम बारिश से आसेगांव समेत परिसर के ग्रामों की सड़कें नदियों की तरह जल से बहने लगी. बरसात तेज गति से शुरू रहने के कारण एक घंटे तक बिजली पूरी तरह से बंद रही. विगत दिनों ही मौसम विभाग द्वारा जिले में मूसलाधार बारिश होने की चेतावनी देकर सभी को सतर्क रहने का अहवान किया गया था़  यह बारिश आनेवाले रबी मौसम के लिए लाभदायक साबित होने की बात किसानों द्वारा कही जा रही है़. दो घंटों की मूसलाधार बारिश ने सभी कामों को प्रभावित किया है.

    अनेक किसानों सहित पशुपालकों को भी इस बरसात के दौरान काफी दिक्कतों का सामना करना पडा़  इस बारिश की वजह से नदी नाले रात भर उफान पर बहते रहे. इस के अलावा अधिक बरसात होने से खेतों में पानी जमने की वजह से खेती के कामकाज भी रविवार को पूरी तरह से प्रभावित रहने की जानकारी किसानों के माध्यम से प्राप्त हुई है़. शनिवार को हुई इस बरसात में आसेगांव समेत संपूर्ण परिसर के गांवों का समावेश रहा हैं.