ST Strike

    वाशिम. राज्य मार्ग परिवहन महामंडल के कर्मचारियों ने अपने विविध मांगों को लेकर शुरू किए हड़ताल के कारण वाशिम एसटी बस स्टैण्ड पर 7 नवंबर से बसेस बंद होने से एसटी बसेस के पहिए रुके और बस स्टैण्ड पर सन्नाटा छाया रहा़  जिससे बस यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है़  

    दीपावली का त्योहार होने से आवागमन करनेवालों की भीड़ के साथ दीपावली की छुट्टियां समाप्त होने से सोमवार को अपने गतव्य पर जानेवाले लोगों को बड़ी असुविधा का सामना करना पड़ा. एसटी कर्मचारियों के आंदोलन में पहले कुछ संगठन शामिल हुए थे. लेकिन अभी सभी संगठन एकत्रित आकर 7 नवंबर से कामबंद आंदोलन शुरू किया है़.

    जिले के वाशिम समेत मंगरुलपीर, कारंजा, रिसोड, मालेगांव, मानोरा इन तहसील के डिपो के करीब 977 एसटी कर्मचारी इस हड़ताल में शामिल हुए है. जिससे 7 नवंबर से एक भी एसटी बस नहीं चल सकी़  एसटी कर्मचारियों को राज्य सरकार में समाविष्ट करना, उनको पूरी सरकारी सुविधा उपलब्ध कराना आदि के साथ अन्य मांगों को लेकर एसटी कर्मचारियों ने बेमियादी अनशन शुरू किया है़  कर्मचारियों ने इस आंदोलन में शामिल होने से सभी एसटी बसेस के पहिए रुक गए है़.

    बस यात्रियों को बड़ी असुविधा  

    जिले में राज्य मार्ग परिवहन महामंडल का जाल बड़ी मात्रा में फैला हुआ है़  एसटी बस के माध्यम से बड़े प्रमाण में सार्वजनिक परिवहन सुरक्षित व्यवस्था की गई है़  इस दौरान एसटी बस के कर्मचारियों ने अपनी विविध मांगों के लिए सरकार को निवेदन देकर अनशन के संकेत दिए थे़  इस पर अपेक्षित निर्णय नहीं होने से राज्य भर के एसटी कर्मचारियों ने हड़ताल शुरू की है़  जिससे जिले में एक भी बस नहीं चलने से त्योहार के दौरान ही बस यात्रियों को बड़ी असुविधा हो रही है़.