Ballistic Missile Prithvi-2
Photo: DRDO

    बालासोर (ओडिशा). भारत ने बुधवार को ओडिशा के एक एकीकृत परीक्षण केंद्र से कम दूरी तक मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल पृथ्वी-2 का सफल परीक्षण किया। यह मिसाइल परमाणु हथियार ले जाने में भी सक्षम है। रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, पृथ्वी-2 मिसाइल का परीक्षण शाम करीब साढ़े सात बजे किया गया।

    मंत्रालय ने कहा कि परीक्षण के दौरान मिसाइल ने सभी तय परिचालन और तकनीकी मानकों को पूरा किया। रक्षा मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा, “ओडिशा के चांदीपुर स्थित एक एकीकृत परीक्षण केंद्र से कम दूरी तक मार करने वाली बैलिस्टिक मिसाइल पृथ्वी-2 का 15 जून को शाम करीब साढ़े सात बजे सफल परीक्षण किया गया।”

    मंत्रालय के अनुसार, पृथ्वी-2 मिसाइल प्रणाली बेहद कामयाब मानी जाती है और बहुत उच्च स्तर की सटीकता के साथ निर्धारित लक्ष्य को भेदने में सक्षम है। मिसाइल का परीक्षण एक नियमित प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत किया गया। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत प्रक्षेपित की गई मिसाइल के बारे में जानकारी देते हुए कहा, “पृथ्वी-2 मिसाइल का परीक्षण सफलतापूर्वक किया गया और परीक्षण सभी मापदंडों पर खरा उतरा। मिसाइल ने परिचालन और सभी तय तकनीकी मापदंडों को सफलतापूर्वक पूरा किया।”

    सतह से सतह पर मार करने वाली पृथ्वी-2 मिसाइल की मारक क्षमता 350 किलोमीटर तक है। पृथ्वी-2 मिसाइल 500 से 1,000 किलोग्राम भार के हथियार ले जाने में सक्षम है और यह दो तरल प्रणोदन इंजन द्वारा संचालित है। अधिकारियों ने कहा कि यह अत्याधुनिक मिसाइल अपने लक्ष्य को भेदने के लिए उन्नत जड़त्वीय मार्गदर्शन प्रणाली का उपयोग करती है। (एजेंसी)