mamta dhankar

    कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) के राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankar) ने मंगलवार को राज्य में हिंसा को रोकने के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठाने के लिए ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के नेतृत्व वाली सरकार पर जमकर हमला बोला। धनखड़ ने इस साल की शुरुआत में राज्य में चुनाव के बाद हुई हिंसा को एक ‘धब्बा’ बताया। उन्होंने संस्थानों, सरकारी निकायों और विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति के रूप में राज्यपाल की जगह मुख्यमंत्री द्वारा पारित विधेयकों पर भी टिप्पणी की और कहा कि वह संविधान के अनुसार उन पर विचार करेंगे।

    राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा कि, “राज्य के राज्यपाल के रूप में मुझे चिंता है कि राज्य में हिंसा हुई है। चुनाव के बाद की हिंसा इस भूमि पर एक धब्बा है, सरकार हिंसा को रोकने के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठा रही है। हर कोने में माफिया और सिंडिकेट राज है।”

    उन्होंने कहा, “संस्थानों, सरकारी निकायों और विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति के रूप में राज्य के राज्यपाल को मुख्यमंत्री द्वारा बदलने के लिए परिवर्तन लाए गए। मैं इन सभी विधेयकों पर संविधान के अनुसार विचार करूंगा और सुप्रीम कोर्ट के फैसले के अनुसार इनकी जांच करूंगा।”

    गौरतलब है कि मंगलवार को राज्यपाल के स्थान पर मुख्यमंत्री को विश्वविद्यालय का कुलाधिपति के रूप में नियुक्त करने से संबंधित पश्चिम बंगाल स्वास्थ्य सेवा विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक, 2022 को राज्य विधानसभा में पारित कर दिया गया। यह विधेयक तत्काल प्रभाव से लागू होगा।