mirage

    नयी दिल्ली/लखनऊ. सुबह की बड़ी खबर  के अनुसार उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में चोरी हुए फाइटर प्लेन मिराज (Fighter Plane Mirage) का पहिया (Tyre) अब मिल चूका है। जी हाँ, जिन चोरों ने इस पहिये को चुराया था, उन्होंने ही इसे वापस लौटा दिया है। दरअसल इन चोरों का कहना है कि उन्हें बिल्कुल  भी नहीं पता था कि ये पहिया फाइटर प्लेन ‘मिराज’ (Mirage) का है। वे चोर तो इसे ट्रक का पहिया समझकर चुरा ले गए थे. हालांकि, टायर मिलने के बाद फिलहाल आगे की कानूनी कार्रवाई जारी है।

    इस बात लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट की ओर से बयान जारी कर चोरी हुए टायर के मिलने की भी पुष्टि की गई है। इस बयान पर जारी कर बताया गया है कि बीकेटी एयरफोर्स स्टेशन पर इस टायर को दो युवकों ने अपने अधिकारियों को सौंप दिया है। दरअसल ये टायर शहीद पथ के किनारे से चोरी हो गया था। इस मामले में बीते 1 दिसंबर को केस दर्ज किया गया था. इस टायर को दीपराज और हिमांशु नाम के दो चोर युवकों ने चुराया था। रिश्ते में दीपराज, हिमांशु का फूफा लगता है। इसके बाद दोनों ने बताया कि 26 नवंबर की रात 10:30 से 10:45 के बीच शहीद पथ पर एक टायर मिला था, जिसे वो लोग एक ट्रक का टायर समझकर घर ले आए थे। 

    बीते 3 दिसंबर को उन्होंने न्यूज में देखा कि, मिराज का पहिया चोरी हो गया है, तो उन्होंने स्थिति की गंभीरता. न्यूज में शहीद पथ की घटना ही बताई गई थी, इसलिए उन्हें लगा कि ये  शायद वही टायर है। ये टायर भी थोड़ा अलग था। जिसके बाद दोनों ने ही इस टायर को वायुसेना को सौंप दिया है।

    घटना के मुताबिक लखनऊ के बीकेटी में मध्य वायु कमान का स्टेशन है। यहां एयरबेस से मिराज फाइटर जेट के पांच टायर जोधपुर एयरबेस भेजे जा रहे थे। बीते 27 नवंबर की रात करीब दो बजे सेना से संबंद्घ ट्रेलर RJ01JA3338 टायर लोड कर निकला था। 

    ड्राईवर के अनुसार शहीद पथ पर ही एसआर होटल के पास जाम लगा हुआ था। तभी जाम के बीच ट्रेलर के पीछे चल रही एक काले रंग की स्कार्पियो से उतरे दो लोगों ने अचानक रस्सा काटकर एक टायर उतार लिया। इधर ड्रावर हेम सिंह जाम के कारण वह गाड़ी किनारे लगाकर पकड़ नहीं सका। इसी बीच स्कार्पियो सवार वहां से पलक झपकते ही निकल गये। बाद में हेम सिंह ने इसकी सूचना पुलिस कंट्रोल रूम के 112 नंबर पर दी।