ABDULLAH-AZAM-KHAN
File Pic

    रामपुर. जहाँ एक तरफ उतर प्रदेश (Uttar Pradesh Chunav) में होने जा रहे विधानसभा चुनाव (UP Elections 2022) को लेकर राजनीतिक गलियारे में सियासी घमासान तेज है। वहीँ अब इसी क्रम में सपा सांसद आजम खान (Azam Khan) के बेटे अब्दुल्ला आजम खान (Abdullah Azam Khan) भी जेल से आने के बाद इस सिसासी अखाड़े में अपनी कमर कस, कूद चुके हैं। 

    जी हाँ रामपुर में 23 महीने बाद जमानत पर जेल से रिहा होकर आये अब्दुल्ला आजम खान (Abdullah Azam Khan Cries) ने पहली बार कार्यकर्ताओं के साथ एक वर्चुअल संवाद किया। इस महत्वपूर्ण संवाद के दौरान अपने पिता आजम खान का जिक्र करते हुए अब्दुल्ला आजम भावुक हो कर रोने लगे और रोते हुए अपने वालिद की बातों को अपने पार्टी के कार्यकर्ताओं  को बताया।

    वहीँ इस वर्चुअल संबोधन के दौरान मंच पर ही पिता का जिक्र करते हुए अब्दुल्ला आजम भावुक होकर रोने लगे। इस दौरान वह इतने भावुक हो गए कि उन्हें बीच में ही अपना भाषण रोकना पड़ा। बाद में उन्होंने खुद को संभाला और कहा कि, “ लोग कहते हैं कि चमत्कार होते हैं। मैंने खुद अपनी आंखों से चमत्कार होते हुए देखा है, जब मेरे पिता लखनऊ में एक अस्पताल में कोरोना वायरस से पीड़ित थे और जिंदगी की उम्मीद नहीं बची थी, मगर किसी की दुआ ने उन्हें फिर बचा लिया।”

     इधर अब अब्दुल्ला आज़म के भावुक होकर रोने पर बीजेपी  प्रत्याशी आकाश सक्सेना ने ड्रामा करार देते हुए कहा कि, “जिसने रामपुर की जनता को कभी खून के आंसू रुलाया वो आज घड़ियाली आंसू बहा रहा है। शर्म आनी चाहिए। नाटक है। यह फिर से रामपुर की जनता को बेबकुफ़ बनाने की कोशिश है। ये आज़म के जितने कृत्य हैं, आज़म के जितने कुकर्म हैं। आज वो रामपुर की जनता के सामने है और इसका जवाब रामपुर की जनता वोट के रूप में देने जा रही है।” 

    इस प्रकार देखा जाए तो उत्तरप्रदेश में सियासी हवा बेहद गर्म है और राजनितिक गलियारों में विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियां दो-दो हाथ करने के पुरे मूड में है। आखिर बात सत्ता और आधिपत्य की जो है।