यूपी के मंत्री नंदी ने अचानक बदला निरिक्षण का निर्धारित कार्यक्रम, दूसरे गांव में पहुंचने पर मिली अनियमितता तो किया कार्रवाई

    लखनऊ, उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता लोगों की सोंच से परे हमेशा कुछ अलग करने के लिए चर्चित हैं।इस बार फिर नंदी ने झांसी मंडल के जालौन जनपद में भ्रमण व निरीक्षण के दौरान कुछ ऐसा किया कि, निरीक्षण की तैयारी करने वाले अधिकारियों की पूरी योजना ही फेल हो गई। मंत्री ने निरीक्षण के अंतिम समय में अधिकारियों द्वारा निर्धारित किए गए गांव में निरीक्षण निरस्त कर दूसरे गांव में निरीक्षण किया। इतना ही नहीं बल्कि, वहां दिखीं कमियों और लापरवाही के लिए जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई भी की। जिससे जालौन जनपद के अधिकारियों में जबर्दस्त खलबली मच गई है।

    दरसल विकास भवन सभागार में समीक्षा बैठक के बाद निरीक्षण के लिए जिला प्रशासन द्वारा उरई के ही एक गांव को निर्धारित किया गया था। जहां अधिकारियों और कर्मचारियों की पूरी टीम काम करके वहां की व्यवस्था चकाचक कर दी थी। लेकिन निरीक्षण से कुछ मिनट पहले मंत्री नन्दी अचानक निर्धारित गांव में निरीक्षण निरस्त कर गिरथान ग्राम पंचायत पहुंच गए, जहां उन्होंने औचक निरीक्षण कर पंचायत भवन, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, कान्हा गौशाला, गेहूं क्रय केंद्र के साथ ही एकीकृत कोविड कमांड सेंटर का निरीक्षण किया। इस बीच गांव की सड़कें खराब व सफाई व्यवस्था काफी खराब मिली। मंत्री नन्दी ने ग्राम पंचायत में बने जन सुविधा केंद्र के संचालन को परखा। ग्राम सहायिका का कम्प्यूटर संचालन ज्ञान अपूर्ण पाया गया, इसके अलांवा कई सफाई कर्मियों की उपस्थिती में भी मंत्री नन्दी ने बड़ी लापरवाही पकड़ी है। पंचायत सचिव के पास पंचायत के पुराने अभिलेख नहीं पाए गए। पूछने पर कोई संतोषजनक जवाब न मिलने पर मंत्री नन्दी ने पंचायत सचिव मोहित, सफाई कर्मी मिथलेषी को तत्काल निलंबित करने के निर्देष दिए। इसके अलांवा अनंतराम गुप्ता पंचायत मित्र को निलंबित करने के निर्देष के साथ एडीओ पंचायत बलबीर सिंह को प्रतिकूल प्रविष्टि तथा डीपीआरओ को चेतावनी के निर्देष दिए हैं।

    इसके अलांवा मंत्री नन्दी ने कई इलाकों की निरीक्षण कियें। उन्होंने तहसीलदार सदर द्वारा अवलोकित कराई गई मिसिल बंद में कमियां पाए जाने पर तहसीलदार को फटकार लगाई।इस बीच पाया गया कि 50 फाइलें 45 दिन से अधिक समय से लम्बित हैं। वहीं भाजपा कार्यकर्ताओं की शिकायत पाए जाने पर चौकी इंचार्ज ईटो योगेंद्र शर्मा को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देष दिए हैं। निरीक्षण के दौरान पंचायत में लोगों की समस्याएं सुनने के बाद अंत में मंत्री नन्दी ने गरोली गांव में अनुसूचित जाति के विनोद कुमार अहिरवार के घर जाकर राज्य मंत्री लोक निर्माण कुंवर बृजेश सिंह व स्थानीय विधायकों के साथ भोजन किया। उन्होंने कहा, प्रशासन की कमियों को दूर करवाने के लिए आगे भी ऐसी कार्रवाई करते रहेंगे।