डॉ. विपिन शर्मां के सामने चुनौतियों का पहाड़

कोरोना पर मात करते समय करना पड़ेगा राजनितिक दबाव का सामना 

ठाणे. तीन महीने पहले ठाणे मनपा आयुक्त के पद पर विजय सिंघल की नियुक्ति की गई थी, लेकिन उनपर वैश्विक महामारी कोरोना को रोकने में असफल होने का आरोप लगाते हुए अब उन्हें पद से हटाकर उनकी जगह पर डॉक्टर विपिन शर्मा की नियुक्ति की है. लेकिन अब सवाल यह खड़ा हो रहा है, क्या शर्मा एक डॉक्टर के साथ ही प्रशासकीय अधिकारी भी हैं और ऐसे में क्या वे कोरोना को रोकने में सफल हो पाएंगे? साथ ही उन्हें कोरोना पर मात पाने के लिए एक तरफ राजनैतिक दलों के दबाव का सामना करना पड़ेगा तो वहीं मनपा में प्रस्थापित अधिकारियों के बीच समन्वय स्थापित कर सवा पांच साल तक मनपा आयुक्त के पद पर काम करने वाले संजीव जायसवाल की तरफ ग्रास रूट पर जाकर उनके स्टाइल में काम करना पड़ेगा. बहरहाल अन्य आयुक्त के पास पहाड़ जैसी चुनौती है और इससे कैसे वे आगामी दिनों में निपटेंगे यह देखना दिलचस्प होगा.  

ज्ञात हो कि सवा पांच तक मनपा आयुक्त के तौर पर संजीव जायसवाल ने ठाणे में कई विकास कार्य कर राजनैतिक दलों के नेताओं और मनपा के प्रस्थापित अधिकारियों के बीच समन्वय साधते हुए बिगड़ी ठाणे की आर्थिक पटरी को भी सुधारने का काम किया था. इसी बीच मार्च महीने में उनकी सत्ताधारी शिवसेना के कुछ नेताओं और मनपा के कुछ अधिकारियों के बीच खटकने के कारण अचानक उन्होंने अपना चार्ज तत्कालीन अतिरिक्त आयुक्त राजेंद्र अहिवर को सौंप कर लंबी छुट्टी पर चले गए थे. इसी बीच 19 मार्च को मुंबई मनपा के अतिरिक्त आयुक्त विजय सिंघल को ठाणे मनपा के आयुक्त के पद पर नियुक्त किया गया. यह नियुक्ति कोरोना के संक्रमण काल के शुरुवाती दौर में किया गया. सिंघल पिछले तीन माह में कोरोना के संक्रमण को कम करने में अनेकों उपाय योजना किये, लेकिन प्रतिदिन 100 से 150 नए मरीजों के संक्रमित होने के चलते उनका यह उपाय योजना लगभग असफल साबित हुआ. जिस्डका मुख्य कारण उनका शांत स्वभाव और संयमी नेतृत्व था.  

नए आयुक्त के समक्ष चुनौती

ठाणे मनपा के नए आयुक्त के तौर विपिन शर्मा की नियुक्ति की गई है. उन्होंने बुधवार को अपना चार्ज भी ले लिया. शर्मा 2005 के बैच के आईएएस अधिकारी हैं. प्रशिक्षण लेने के बाद वे कई महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं. ऐसा कहा जा रहा है कि ठाणे में बढ़ रहे कोरोना के संक्रमण को रोक पाने में आयुक्त विजय सिंघल नाकाम थे और उनकी यहाँ के राजनीतिक दलों के कुछ नेताओं से भी नहीं जम रही थी. जिसके कारण उन्हें पद गवाना पड़ा. वहीं अब विपिन शर्मा के समक्ष भी कई चुनौतियां हैं. शर्मा खुद एक डॉक्टर हैं और ऐसे में वे ठाणे में बढ़ते कोरोना को रोकने और मृत्यु के प्रमाण को कम करने की अहम् जिम्मेदारी है. इसके आलावा संजीव जायसवाल के जाने के बाद और कोरोना के संक्रमण काल के कारण मनपा की आर्थिक स्थिति पटरी से उत्तर चुकी है, जिसे फिर से पटरी पर लाने. बरसात के दौरान संक्रमित बीमारियों को रोकने, खतरनाक इमारतों का पुनर्वसन आदि जैसी अनेकों चुनौतियाँ नए आयुक्त के समक्ष है.

कोरोना को रोकने का करेंगे प्रयास 

आज ही चार्ज लिया हूँ, लेकिन ठाणे में बढ़ते कोरोना के संक्रमण और मृत्यु संख्या को कम करने का प्रयास करूँगा. चार्ज लेने के बाद विभाग के सभी अधिकारियों की एक बैठक लेकर चर्चा कर कोरोना को रोकने के लिए एक टीम के रूप में कार्य करने के लिए तैयार हूँ. पहले दिन ही सभी विषयों पर बोलना कठिन है परन्तु, 2 से 3 दिनों में किस प्रकार प्लानिंग किया जा रहा है, सभी जानकारी उपलब्ध कराऊंगा. क्योंकि शहर के लिए नया हूँ और परिस्थितियों को समझने में समय लगेगा. ठाणे करों की मदद की जरूरत है. कोरोना रोकने के जान जागरूकता जरुरी है और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरुरी है. जिसे कड़ाई से लागु किया जाएगा. 

-डॉ. विपिन शर्मा – आयुक्त, ठाणे मनपा