On the radar of Mahavitaran, customers using up to 30 units of electricity, 20 percent customers of

    कल्याण. महावितरण (Mahavitaran) द्वारा कल्याण परिमंडल (Kalyan Circle) में प्रति माह 30 यूनिट से कम बिजली का उपयोग करने वाले ग्राहकों  (Customers) की जांच के लिए विशेष मुहिम चलाई जा रही है। कल्याण परिमंडल के 20 प्रतिशत ग्राहक 30 यूनिट से कम बिजली का उपयोग करते हैं जिसके कारण उनके यहां बिजली की खपत की जांच की जाएगी। अगर उनके मीटर में कोई गड़बड़ी है तो उसे सुधारकर आमदनी में वृध्दि की जाएगी।

    मुख्य कार्यालय के निर्देश पर 30 यूनिट से कम बिजली का उपयोग करने वाले लगभग 3 हजार ग्राहकों की जांच की गई जिसमें यह पाया गया कि मीटरों की सील टूटी हुई थी, मीटर बंद थे, मीटर घरों के अंदर है, मीटरों में छेड़छाड़ की गई, गलत रीडिंग जैसे कारण पाए गए। जिसके चलते 30 यूनिट से कम बिल आता था। 30 यूनिट से कम बिजली का उपयोग  करने वाले 4 लाख 44 हजार 238 ग्राहक हैं जिनके जांच की व्यापक मुहिम शुरू की गई है। 

    कल्याण मंडल कार्यालय, जिसके अंतर्गत कल्याण और डोंबिवली का समावेश है। जिसके  अंतर्गत 80 हजार 849, कल्याण मंडल कार्यालय 2 जिसमे ठाणे जिले के ग्रामीण भाग और उल्हासनगर का समावेश है। जिसमें 1 लाख 3 हजार 435, वसई मंडल कार्यालय जिसमें वसई और विरार का समावेश है उसमें सर्वाधिक 1 लाख 56 हजार 661, पालघर जिले में वसई विरार को छोड़कर 1 लाख 3 हजार 293 ग्राहक 30 यूनिट से कम बिजली का उपयोग करते हैं जो कि यह दर्शाता है कि कहीं न कहीं कुछ गड़बड़ी है।

    मुख्य अभियंता दिनेश अग्रवाल के नेतृत्व में शुरू की गई इस मुहिम में अधिकरियों और कर्मचारियों की जिम्मेदारी तय की गई है। विभाग और उपविभागीय स्तर पर विशेष दलों की नियुक्ति की गई है जो दैनिक रूप से जांच की रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे। परिमंडल के ग्राहकों से दिनेश अग्रवाल ने यह आवाहन किया है कि जांच के लिए आने वाले कर्मचारियों का सहयोग करें।