महाराष्ट्र की करना है सैर, तो जरूर जाएं इन जगहों पर

    नई दिल्ली :अक्सर आप घूमने जाते है, तो उस शहर या राज्य के बारे में ज्यादा से ज्यादा और सटीक जानकारी आपको मिलना चाहिए। महाराष्ट्र नाम में ही उस राज्य का मतलब छिपा है । महाराष्ट्र अपनी सांस्कृतिक धरोहर ,खूबसूरती ,ऐतिहासिक घटनाओं के लिए जाना जाता है। महाराष्ट्र भारत के दक्षिण मध्य में स्थित है। इसकी राजधानी मुंबई देश की आर्थिक राजधानी के रूप में भी जानी जाती है और यहां का पुणे शहर भी भारत का छठा सबसे बड़ा शहर है। इसके अलावा यहां एक से बढ़कर एक टूरिस्ट सिटीज भी हैं। महाराष्ट्र की सैर कर आप अनेक नई बातें सीखेंगे। साथ ही आपकी यात्रा मजेदार रहेगी। तो चलिए जानते है महाराष्ट्र के कुछ ऐसी जगह जो घूमने के लिए है बेहतर ….

    1. अमरावती

    महाराष्ट्र के उत्तर पूर्व दिशा में स्थित अमरावती देवताओं के राजा इन्द्र का शहर माना जाता है। अमरावती यह महाराष्ट्र के प्रसिद्ध शहरों में से एक है। अनेक ऐतिहासिक मंदिर और अभयारण्य जैसे खास पर्यटन स्थल यहा है। यहां का देवी अंबा, भगवान श्रीकृष्ण और वेंकटेश्वर मंदिर पूरे महाराष्ट्र में प्रसिद्ध हैं. अमरावती की बीर और शक्कर झील काफी चर्चित हैं। अमरावती जिले के चिखलदरा और धरनी तहसील में स्थित टाईगर रिजर्व 1597 वर्ग किमी क्षेत्र में फैला है। यहां पर्यटक काफी संख्या में आते है।

    2. पुणे

    पुणे को महाराष्ट्र की सांस्कृतिक राजधानी और ‘क्वीन ऑफ द दक्कन’ के नाम से भी जाना जाता है। पुणे में शनिवार वाड़ा महल है जो पेशवा का निवास स्थान था। इस महल की नींव बाजीराव प्रथम ने 1730 ई. में रखी थी। यहां आगाखान महल भी है। इसका निर्माण 1892 में इमाम सुल्तान मुहम्मद शाह आगा खां तृतीय ने करवाया था।1969 में आगाखान चतुर्थ ने यह भारत सरकार को सौंप दिया। एक बेहतर ट्रिप चाहते है तो जायें। 

    3. नासिक

    नासिक महाराष्ट्र राज्य के उत्तर-पश्चिम में स्थित है। यह शहर प्रमुख रूप से हिन्दू तीर्थयात्रियों का प्रमुख केन्द्र है। नासिक में लगने वाला कुंभ मेला शहर के आकर्षण का सबसे बड़ा केंद्र है। यहां 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक त्र्यंबकेश्वर मंदिर भी है, जो की देश के लोगो का आस्था केंद्र भी है। यह देश के कोने कोने से लोग दर्शन करने आते है। 

    4. मुंबई

    मुंबई को पहले बॉम्बे के नाम से जाना जाता था। भारत के चार प्रमुख महानगरों में से एक होने के साथ-साथ यह महाराष्ट्र की राजधानी भी है। इसे भारत की आर्थिक राजधानी भी कहा जाता है. यहां देश के प्रमुख वित्तीय और संचार केन्द्र हैं। जहां गेटवे ऑफ इंडिया, हाजी अली, जूहू बीच, जोगेश्वरी गुफा, हैंगिंग गार्डन, सिद्धिविनायक मंदिर, मरीन ड्राइव है। सपनों की नगरी कहे जाने वाले इस मुंबई शहर का दीदार जोरू करे।

    5. लोनावला

    लोनावला यह एक हिल स्टेशन है। इसे सहयाद्रि पहाड़ियों के मणि के नाम से भी जाना जाता है। इसे स्वास्थ्यवर्धक पर्यटन स्थल मानते हैं। ये समुद्र तल से 625 की ऊंचाई पर स्थित है। इसे मुंबई और पूना का प्रवेश द्वार भी माना जाता है। वुड पार्क लोनावाला के मुख्य बाजार के ठीक पीछे स्थित है। यह एक जैदि उद्यान है। इस पार्क के विपरीत दिशा में एक पुराना ईसाई कब्रिस्तान है। इसकी बहुत सी कब्रें 100 साल पुरानी हैं। लोनावला हरियाली से भरी हुई एक बेहद खूबसूरत जगह है। 

    6. रत्नागिरी

    रत्नागिरी अपने आप में एक बेहद खासियत पूर्ण सिटी है। समुद्र से घिरा बाल गंगाधर तिलक का यह जन्म स्थान भारत के महाराष्ट्र राज्य के दक्षिण-पश्चिम भाग में अरब सागर के तट पर स्थित है। यह कोंकण क्षेत्र का ही एक भाग है। यहां बहुत लंबा समुद्र तट है। यहां कई बंदरगाह भी हैं। रत्नागिरी में दो विशाल बौद्ध मठ थे मठ के अतिरिक्त यहां से छह मंदिर, हजारों छोटे स्तूप, 1386 मुहरें, असंख्य मूर्तियां आदि के अवशेष मिले हैं, थीवा महल, रत्नागिरी किला भी आकर्षण का केंद्र हैं। महाराष्ट्र को नजदीक से जानना चाहते है तो रत्नागिरी जरूर आये।

    7. महाबलेश्वर

    यह महाराष्ट्र के सतारा जिले में है। महाबलेश्वर हिल स्टेशन वेस्टर्न घाट रेंज में स्थित है। यहां कृष्णा भाई मंदिर, 3 मंकी पॉइंट, वेन्ना झील, लिंगमाला वॉटरफॉल, Kate’s Point, विल्सन पॉइंट, महाबळेश्वर के पास ही प्रतापगढ़ का किला घूमने लायक हैं।

    8 .औरंगाबाद

    औरंगाबाद विश्व में अजंता और एलोरा की प्रसिद्ध बौद्ध गुफाओं के लिए जाना जाता है। इन गुफाओं को वर्ल्ड हेरिटेज में शामिल कर लिया गया है।  मध्यकाल में औरंगाबाद भारत में अपना महत्वपूर्ण स्थान रखता था। औरंगजेब ने अपने जीवन का उत्तरार्ध यहीं व्यतीत किया था और यहीं औरंगजेब की मृत्यु भी हुई थी। औरंगजेब की पत्नी रबिया दुर्रानी का मकबरा भी यही हैं और पनचक्की भी अच्छा टूरिस्ट प्लेस है। 

    9. दौलताबाद

    यह शहर औरंगाबाद जिले में है। इसे देवगिरि के नाम से भी जाना जाता है। दौलताबाद में बहुत सी ऐतिहासिक इमारतें हैं जिन्हें जरूर देखना चाहिए। इन इमारतों में जामा मस्जिद, चारमीनार, चीनी महल और दौलताबाद का किला शामिल हैं।