youth of the city came to the support of the government in the fight against Corona, doing sanitization
प्रतीकात्मक तस्वीर

    लखनऊ. कोरोना संक्रमण (Corona Infection) की चेन तोड़ने के लिए प्रदेश की 97 चीनी मिलों (Sugar Mills) और छोटी इकाईयों अहम रोल अदा कर रही है। खासकर कोरोना (Corona) की दूसरी लहर (Second Wave) तोड़ने में इन्‍होंने बड़ा योगदान दिया है। चीनी मिलो में बने सेनीटाइजर से अब तक 5 हजार से अधिक गांवों व 4 हजार से अधिक सार्वजनिक कार्यालयों को सेनीटाइज करने का काम किया जा चुका हैं। अपर मुख्‍य सचिव संजय भूसरेडडी ने बताया कि चीनी मिलों में लगातार सेनीटाइजर का उत्‍पादन किया जा रहा है। जिनका इस्‍तेमाल गांवों में कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने में किया जा रहा है। 

    अपर मुख्‍य सचिव ने बताया कि कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए गन्ना क्षेत्रों में लगातार सैनिटाइजर का छिड़काव किया जा रहा है। किसानों को कोरोना वायरस से बचाव के बारे में भी बताया जा रहा है। गन्ना विकास विभाग व चीनी मिलों के सहयोग से सेनीटाइजर उत्‍पादन कार्य लगातार किया जा रहा है, ताकि लोग सुरक्षित रहें। 

    इन इलाकों में किया गया सैनिटाइजर का छिड़काव 

    उन्‍होंने बताया कि चीनी मिलों में बने सेनीटाइजर से अब तक सहारनपुर के 585 गांवों व 128 कस्बों और 393 सार्वजनिक कार्यालयों, मेरठ के 194 गांवों, 18 कस्बों, 139 सार्वजनिक कार्यालयों, मुरादाबाद में 224 गांवों, 20 कस्बें, 358 सार्वजनिक कार्यालयों, बरेली के 152 गांवों, 10 कस्बों, 109 सार्वजनिक कार्यालयों को सैनिटाइज किया गया। इसी तरह से लखनऊ में 143 गांव, 41 कस्बे और  511 सार्वजनिक कार्यालय,  देवीपाटन में 136 गांव, 58 कस्बे, 208 सार्वजनिक कार्यालय, अयोध्‍या में  21 गांव, 8 कस्बे, 36 सार्वजनिक कार्यालय, गोरखपुर में  25 गांव, 5 कस्बे, 66 सार्वजनिक कार्यालय और देवरिया में 135 गांव, 55 कस्बे, 168 सार्वजनिक कार्यालयों को सेनेटाइज किया गया है।  विभाग द्वारा अब तक 4,952 गांवों, 527 कस्बों और 4,489 सार्वजनिक कार्यालयों का सैनिटाइजेशन किया जा चुका कोरोना महामारी को रोकने के लिए सेनीटाइजेशन कार्य लगातार किया जा रहा है।  

    मार्च तक किया 2 करोड़ लीटर सेनीटाइजर का उत्‍पादन 

    अतिरिक्‍त मुख्‍य सचिव संजय भूसरेडडी के मुताबिक, यूपी की 97 चीनी मिलों व छोटी ईकाईयों ने दूसरी लहर के दौरान 25 मार्च तक 2 करोड़ लीटर सेनीटाइजर का उत्‍पादन किया है, जो एक रिकार्ड है। आबकारी विभाग द्वारा यूपी की चीनी मिलो में तैयार किए गया सेनीटाइजर को दूसरे राज्‍यों को भी दिया जा रहा है। यूपी की चीनी मिलो व छोटी इकाईयों में रोजाना 6 लाख लीटर सेनीटाइजर का उत्‍पादन किया जा रहा है, जबकि सेनीटाइजर उत्‍पादन की क्षमता 6.5 लाख लीटर है।