Representational Image
Representational Image

    वैशाली: बिहार (Bihar) में वैशाली जिले (Vaishali District) के अब्दुल हसनपुर से एक हैरान करने वाली खबर सामने आई है। दरअसल, अब्दुल हसनपुर गांव में मंगलवार को कुछ लोगों को झाड़ियों के पीछे कुछ कपड़े, इंसानी अंग और तंत्र-मंत्र का जैसे समान नज़र आए। जिसके बाद यह बात पूरे गांव में आग की तरह फ़ैल गई। एक-एक करके लोग उस जगह जमा होना शुरू हो गए। जिसके बाद लोगों ने वैशाली पुलिस स्टेशन में इस बार की जानकारी दी। 

    मौके पर पहुंचकर पुलिस ने जांच करना शुरू किया। लोगों की भीड़ के बीच पुलिसवालों ने झाड़ियों के बीच से एक-एक कर नरमुंड (Mangrove) और सामान को सावधानी से निकाला। लेकिन जैसे ही पुलिस की नरमुंड की तरह दिख रहा चीज़ पर लाठी बरसाई, वैसे ही वह फुट गया। जिसके बाद पता चला कि, यह नरमुंड नहीं कद्दू (Pumpkin) था। जिसे इंसानी नरमुंड की तरह शक्ल दी गई थी। इस कद्दू पर लाल कपडा लपेटा गया था और उस पर सिंदूर और भभूत लपेटा गया था। जिससे कद्दू नरमुंड की तरह की दिख रहा था। 

    एक साथ 5 नरमुंड मिलने की खबर पूरे जिले में फ़ैल गई थी। जिसके बाद नतीजा ये हुआ कि, पुलिस को देर शाम होते-होते इस पूरे मामले पर सफाई देनी पड़ी। वैशाली पुलिस ने बकायदा एक प्रेस रख बताया कि मौके पर जो चीज मिली है वह नरमुंड नहीं है, बल्कि कद्दू है। एक महीना पहले इस इलाके में यज्ञ हुआ था। जिसमें नरमुंड जैसा प्लास्टिक और कद्दू का बनाया गया था। जिसका इस्तेमाल पूजा-पाठ में किया गया था। इसके बाद उसको खेत में फेंक दिया गया था। ये वही समान है और नरमुंड बरामद होने की खबर असत्य है।