एसटी बस स्टैण्ड पर पेयजल के अभाव से यात्री परेशान, यात्रियों ने की पेयजल उपलब्ध करने की मांग

वाशिम. स्थानीय एसटी बस स्टैण्ड पर पिछले कुछ महीनों से पेयजल की व्यवस्था बंद रहने से बस यात्रियो को पेयजल उपलब्ध नही हो रहा है़  जिससे उनको पीने के लिए पानी खरीदी कर पीना पड़ने से आर्थिक नुकसान सहना पड़ रहा है. वाशिम जिला मुख्यालय के एस.टी. बस स्टैण्ड से सैंकड़ों एसटी बसेस का आवागमन होता है़.

दूरदराज के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों के बस यात्री भी एस. टी. बस से यात्रा करते है़  यात्रियों में महिला, बच्चे, वृध्दों का समावेश होकर अनेक बार गंभीर मरीजों को अकोला, औरंगाबाद, नागपुर जैसे चिकित्सालय में उपचार के लिए यहां से जाना पड़ता है़  उनके साथ बच्चे, वृध्द भी रहते है़  अधिक तर एसटी बस से जानेवाले लोग सामान्य, गरीब ही रहते है़  कुछ लोग अपने गतव्य पर जाने के लिए बस की प्रतीक्षा में दो चार घंटे बस स्टैण्ड पर ही रुके रहते है.

इस दौरान वे अपने घर से लाया हुआ टिफीन खाते है, उनको ऐसे समय बस स्टैण्ड पर पीने का पानी न मिलने से उनको मजबूरन पानी की बोतल खरीदी करनी पड़ती है़  हालाकी एस.टी. के प्रत्येक बस स्टैण्ड पर एसटी डिपो व्दारा पानी की व्यवस्था नि:शुल्क रहती है़  इसी तरह से वाशिम बस स्टैण्ड पर भी यह व्यवस्था की गई थी, लेकिन कुछ अर्से के पूर्व बस स्टैण्ड पर नि:शुल्क पेयजल उपलब्ध करने की जिम्मेदारी यहां के सत्यसाई सेवा समिति ने ली थी़.

उन्होंने पिछले कुछ महीनों तक यह सुविधा उपलब्ध करवाई थी, लेकिन कोरोना महामारी के दौरान पिछले 24 मार्च से एसटी बसेस बंद हुई थी व बस स्टैण्ड पर यात्री नही होने से पानी की आवश्यकता भी कम थी़  मात्र अब बसेस शुरू होने से बस स्टैण्ड पर यात्री का आवागमन शुरू हो गया है, लेकिन करीब पिछले 2 महीने से यह सेवा बंद हो जाने से बसयात्रियों को पानी को लेकर बड़ी असुविधा हो रही है़.

इस संदर्भ में एसटी डिपो प्रमुख इलामे ने बताया कि पानी सप्लाई में खराबी होने से पानी बंद था, लेकिन इस पर कार्रवाई कर शुरू किया जा रहा है़  सत्यसाई सेवा समिति के डा़ वोरा ने बताया कि पिछले 15 से अधिक वर्षो से समिति व्दारा बसयात्रियों के लिए जलसेवा उपलब्ध की जा रही है़  इन दिनों यहां पर पानी क्यों नही मिल रहा. इस संदर्भ में अधिक जांच कर यात्रियों के लिए पानी शीघ्र उपलब्ध करवाया जाएगा.