लिपिक को 4 दिन का  PCR

वाशिम. स्थानीय आयुडीपी कालोनी परिसर स्थित सावित्राबाई फुले नर्सिंग कालेज में विद्यार्थियों के साथ आर्थिक धोखाधड़ी करने के प्रकरण में गिरफ्तार आरोपी लिपिक आशिष अघमकर को 29 जुलाई को न्यायालय ने चार

वाशिम. स्थानीय आयुडीपी कालोनी परिसर स्थित सावित्राबाई फुले नर्सिंग कालेज में विद्यार्थियों के साथ आर्थिक धोखाधड़ी करने के प्रकरण में गिरफ्तार आरोपी लिपिक आशिष अघमकर को 29 जुलाई को न्यायालय ने चार दिन की पुलिस कस्टडी में रखने के आदेश दिए है. प्रकरण में स्थानीय आययुडीपी कालोनी परिसर के सावित्रीबाई फुले नर्सिंग कालेज में कामकाजों के लिए आशिष अघमकर को संस्था के संचालक डा प्रविण धाडवे ने 1 जून 2015 में नियुक्त किया था.

स्वयं के खाते में जमा की रकम
अघमकर को कालेज व विद्यार्थियों का रिकार्ड रखने के काम के साथ ही शासन द्वारा निर्धारित किए शुल्क जमा करने की जिम्मेदारी थी़ लेकिन अघमकर ने अपने पद का दुरुपयोग कर अनेक विद्यार्थियों के शुल्क स्वयं के खाते में व परिवार वालों के खातों में परस्पर जमा कर संस्था के साथ धोखाधडी की़ इस प्रकार की शिकायत डा़ धाडवे ने पुलिस में दी. पुलिस ने 24 जुलाई को आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर पुसद से उसे गिरफ्तार किया. अदालत ने उसे 4 दिन की पुलिस कस्टडी में रखने के आदेश दिए.