वणी रंभापुर परिसर में खेत मजदुरों का मजदूरी के लिए पलायन

बोरगांव मंजू. अकोला तहसील के ग्राम बोरगांव मंजू से लगकर स्थित ग्रामीण क्षेत्र के खेत मजदूरों के हाल बेहाल हो रहे हैं. तहसील के ग्राम वणी रंभापुर परिसर के खेत मजदूर मजदुरी के लिए अन्य गांवों में

बोरगांव मंजू. अकोला तहसील के ग्राम बोरगांव मंजू से लगकर स्थित ग्रामीण क्षेत्र के खेत मजदूरों के हाल बेहाल हो रहे हैं. तहसील के ग्राम वणी रंभापुर परिसर के खेत मजदूर मजदुरी के लिए अन्य गांवों में मजदूरी के लिए जा रहे हैं. प्रतिदिन बड़ी संख्या में कई मजदूर ग्राम वणी रंभापुर, निपाना, सुकली नंदापुर, देवली आदि गांवों से ट्रॅक्टर या अन्य वाहनों से घुसर, दहिगांव, म्हैसांग, सांगवामेल आदि गांवों के शेतों में खेत के विविध कार्य करने के जा रहे हैं. उन्हें इस कार्य के लिए प्रतिदिन पुरुषों को 300 रु. तो महिलाओं को 200 से 250 रु. मजदूरी मिल रही है.

जिससे बड़ी संख्या में मजदूर सुबह 9 से 5 बजे तक अन्य क्षेत्रों के लिए उचित मजदूरी प्राप्त करने हेतु पलायन कर रहे हैं. कई गांवों के खेत मालिक सुबह सुबह ही मजदूर ले जाने के लिए अपने वाहन भी भेज रही हैं. ट्रॅक्टर द्वारा मजदूर ले जाने में उन्हें खर्च भी काफी कम आता है. जिससे गांव में ही मजदूरों को उचित मजदूरी मिले इसके लिए जन प्रतिनिधियों से पूरक व्यवसाय प्रकल्प नर्मिाण करने की मांग की जा रही है.