Shringla meets Nepali Foreign Minister, agreed to work towards increasing mutual cooperation

काठमांडू: भारत (India) के विदेश सचिव (Foreign Secretary) हर्षवर्धन श्रृंगला (Harsh Vardhan Shringla) और उनके नेपाली समकक्ष भरत राज पौडयाल (Bharat Raj Paudayal) के बीच बृहस्पतिवार को एक बैठक हुई। बैठक के दौरान भारत और नेपाल (India-Nepal) आपसी सहयोग बढ़ाने की दिशा में काम करने पर सहमत हुए। श्रृंगला नेपाल की अपनी दो दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर बृहस्पतिवार को यहां पहुंचे।

नेपाली विदेश सचिव भरत राज पौडयाल के आमंत्रण पर पहुंचे श्रृंगला का गर्मजोशी से स्वागत किया गया। काठमांडू में भारतीय दूतावास की ओर से ट्वीट किया गया, “विदेश सचिव हर्ष वर्धन श्रृंगला और भरत राज पौडयाल के बीच सकारात्मक बातचीत हुई। बैठक के दौरान उन्होंने द्विपक्षीय सहयोग की समीक्षा की और आपसी हितों के मुद्दों पर चर्चा की।”

एक अन्य ट्वीट में दूतावास ने कहा, “दोनों पक्षों ने विभिन्न द्विपक्षीय परियोजनाओं और पहल पर हुई प्रगति की सराहना की। आपसी सहयोग को बढ़ाने के दिशा में काम करने पर सहमति जताई गई।”

श्रृंगला बृहस्पतिवार की सुबह त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचे। उन्होंने स्थानीय संवाददाताओं से कहा, “मैं यहां पहले भी आना चाहता था लेकिन कोविड-19 के चलते नहीं आ सका था। यहां आकर मैं बहुत खुश हूं। मैं काठमांडू पहले भी आया हूं, हालांकि विदेश सचिव के तौर पर यह मेरी पहली नेपाल यात्रा है। हमारे सबंध बहुत मजबूत हैं। इस रिश्ते को और प्रगाढ़ करने का हमारा प्रयास होगा।”

उन्होंने कहा, “मैं नेपाल की सरकार और विदेश सचिव को गर्मजोशी से किये गए इस स्वागत के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। हम महत्वपूर्ण मुद्दों पर बैठक करने वाले हैं। मेरी पहली मुलाकात नेपाल के विदेश सचिव से होगी और उसके बाद मैं विदेश मंत्री प्रदीप ग्यावली से भेंट करूंगा। मैं काठमांडू में गणमान्य व्यक्तियों से भी मुलाकात करूंगा।” नेपाली विदेश मंत्रालय ने इस सप्ताह एक वक्तव्य जारी कर कहा था कि यह दौरा दोनों पड़ोसी देशों के बीच जारी उच्च स्तरीय बातचीत का एक हिस्सा है।

मंत्रालय के अनुसार श्रृंगला बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री के. पी. शर्मा ओली (KP Sharma Oli) और राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी (President Bidya Devi Bhandari) से भी मुलाकात करेंगे। शुक्रवार को वह काठमांडू में स्थित होटल सोल्टी क्राउन प्लाजा में भारत-नेपाल संबंधों पर एक व्याख्यान देंगे और गोरखा में भारत की सहायता से निर्मित हुए तीन स्कूलों का निरीक्षण करेंगे। शुक्रवार को यात्रा के समापन से पहले श्रृंगला, नेपाली सरकार को कोविड-19 से मुकाबले के लिए सहायता सामग्री सौंपेंगे।

वर्ष 2015 में आए भूकंप (Earthquake) के केंद्र गोरखा में पचास हजार घरों का निर्माण कराने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आश्वासन दिया था जिनमें से चालीस हजार घरों का निर्माण पूरा हो चुका है। श्रृंगला, तिब्बत (Tibet) सीमा पर स्थित मनंग जिले में एक बौद्ध मठ का उद्घाटन भी करेंगे जिसका पुनर्निर्माण भारत की सहायता से किया गया है। इस बीच, श्रृंगला के भारत लौटने के कुछ समय बाद ही चीन के रक्षा मंत्री जनरल वेई फेंगे के नेपाल दौरे पर आने का कार्यक्रम निर्धारित है।

विदेश मंत्रालय के सूत्रों ने यहां जानकारी दी। वेई रविवार को यहां चार दिवसीय दौरे पर आ सकते हैं, हालांकि यात्रा की तारीख की आधिकारिक घोषणा अभी तक नहीं की गई है।