नव वर्ष के जश्न पर प्रतिबंध, ‘ओमीक्रोन’ के कारण कुछ देशों ने बनाए नए नियम

    ब्रसेल्स: नव वर्ष से पहले कोरोना वायरस का नया स्वरूप ‘ओमीक्रोन’ लोगों को हतोत्साहित कर रहा है और इससे निपटने के लिए देश अलग-अलग कदम उठा रहे हैं। कुछ देशों ने पाबंदियों को तुरंत फिर से लागू कर दिया है और कुछ देश लोगों के जश्न का मजा किरकिरा करने से हिचकिचा रहे हैं।

    ब्रिटेन में ‘ओमीक्रोन’ के कारण संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और उनके स्वास्थ्य मंत्री साजिद जावेद ने सोमवार को कहा कि इंग्लैंड में नव वर्ष से पहले कोई अन्य पाबंदियां लागू नहीं की जाएंगी। हालांकि, इंग्लैंड में रोजाना करीब 1,00,000 मामले सामने आ रहे हैं और अस्पताल लगभग 70 प्रतिशत से अधिक भरे हैं।

    जावेद ने कहा, ‘‘ नव वर्ष के बाद हम देखेंगे कि अन्य नियम लागू करने की जरूरत है या नहीं, लेकिन तब तक कम से कम अन्य पाबंदियां नहीं लगाई जाएंगी।” वहीं, ब्रिटेन में अन्य जगहों स्कॉटलैंड, नदर्न आयरलैंड और वेल्स में नाइट क्लब को बंद करने का आदेश दिया गया और अन्य समारोहों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, जिससे देश में संकट से निपटने की अलग-अलग रणनीतियां नजर आ रही है। इस बीच, नीदरलैंड ने पहले ही सभी गैर-आवश्यक दुकानों, रेस्तरां और बार को बंद कर दिया है और स्कूल की छुट्टियां बढ़ा दी हैं।

    सोमवार से जारी किए गए नए नियमों के अनुसार, बड़े समूहों के साथ खरीदारी पर प्रतिबंध लगा दिया गया, सिनेमाघरों को बंद करने का आदेश दिया गया और संगीत समारोहों पर भी प्रतिबंध है।

    वहीं, फ्रांस के प्रधानमंत्री ज्यां कास्टेक्स ने बताया कि अगले सप्ताह से बंद केन्द्रों में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में दो हजार और खुले में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में पांच हजार लोग ही शामिल हो पाएंगे। संगीत समारोहों के दौरान लोगों से अपनी जगह पर बैठे रहने की अपील की गई है। बार में लोगों के खड़े होने की भी अनुमति नहीं होगी।

    सिनेमाघरों, खेल केन्द्रों और सार्वजनिक परिवहनों में खाने और पीने की सुविधाओं पर प्रतिबंध होगा। अगर संभव हो तो सप्ताह में तीन दिन घर से कार्य करने की सलाह दी गई है। ये नए नियम कम से कम तीन सप्ताह तक लागू रहेंगे। फ्रांस में एक दिन में सर्वाधिक 1,00,000 से अधिक संक्रमण के मामले सामने आने के बाद यह कदम उठाया गया है।

    अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन का प्रशासन टीकाकरण, ‘बूस्टर’ खुराक और त्वरित जांच पर जोर दे रहा है। वहीं, न्यूयॉर्क शहर में लगभग सभी व्यवसायों (बड़े तथा छोटे) को कार्यस्थल पर उन कर्मचारियों को प्रतिबंधित करने को कहा है, जिन्होंने टीके नहीं लगवाए हैं। यह नियम सोमवार से लागू हुआ।

    अमेरिका में संक्रामक रोग के शीर्ष विशेषज्ञ डॉक्टर एंथनी फाउची का कहना है कि ‘‘स्थिति बेहतर होने से पहले बदतर होगी” और अमेरिका को घरेलू उड़ानों के यात्रियों के लिए भी टीकाकरण अनिवार्य करने पर विचार करना चाहिए। फाउची ने ‘एमएसएनबीसी’ से कहा, ‘‘जब आप टीकाकरण को अनिवार्य बनाते हैं, तो इससे अधिक लोगों को टीका लगवाने के लिए प्रोत्साहन मिलता है।”

    यूनान में, अधिकारियों ने अतिरिक्त प्रतिबंधों की घोषणा की है। स्वास्थ्य मंत्री थानोस प्लेवरिस ने कहा कि तीन जनवरी से सुपरमार्केट और सार्वजनिक परिवहन पर ‘हाई-प्रोटेक्शन’ या ‘डबल मास्क’ लगाना अनिवार्य होगा। मनोरंजन स्थल आधी रात को बंद हो जाएंगे और फुटबॉल स्टेडियम में दर्शकों की क्षमता को घटाकर 10 प्रतिशत कर दिया जाएगा।

    यूरोप के अन्य हिस्सों में हालांकि कड़े प्रतिबंध लगाने को लेकर हिचक दिखी। पोलैंड में नव वर्ष की पूर्व संध्या पर नाइट क्लब खुले रहेंगे। वहीं, रूस में भी मामूली प्रतिबंध ही लगाए गए है। हालांकि, नए साल की पूर्व संध्या से शुरू होने वाले 10 दिनों के अवकाश की अवधि के दौरान कई सावधानियां बरती जाएंगी। रूस भी कोई अतिरिक्त यात्रा प्रतिबंध नहीं लगाएगा। बेल्जियम में, सिनेमाघर और कला केन्द्रों को बंद किया गया है।