संभावित तीसरी लहर के लिए जिले में उपाय योजना करें: जीतेंद्र पापलकर

    अकोला. कोरोना की तीसरी संभावित लहर में बालकों के साथ साथ कोरोना संक्रमण न हुए व्यक्तियों को संक्रमण होने की संभावना व्यक्त की जा रही है. इसे देखते हुए जिले में उपचार सुविधाएं, बेड, ऑक्सीजन, वैक्सीनेशन के समान उपाय योजना पर अमल करने के निर्देश जिलाधिकारी जीतेंद्र पापलकर ने संबंधितों को दिए हैं. वह जिला नियोजन कक्ष में कोविड को लेकर राजस्व विभाग की समीक्षा बैठक में बोल रहे थे.

    इस अवसर पर निवासी उप जिलाधिकारी प्रा.संजय खड़से, उप विभागीय अधिकारी गजानन सुरंजे, सदाशिव शेलार, बाबासाहब गाढवे, अभयसिंह मोहिते सहित सभी तहसीलदार व राजस्व विभाग के अधिकारी उपस्थित थे. राजस्व विभाग की बैठक में जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि, संभावित तीसरी लहर को देखते हुए तहसीलवार कोविड की तैयारी करके कोरोना संक्रमण की घटनाओं को कम करने के लिए आवश्यक उपाय करें.

    जिले में स्थापित ऑक्सीजन प्लांट का कार्य पूर्ण हो, प्रत्येक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर बच्चों के लिए बेड आरक्षित करना सुनिश्चित करें. जिले में कर्फ्यू में ढील दी गई है. इसलिए जरूरी जगहों और बाजारों में भीड़भाड़ से बचने के लिए कड़े कदम उठाए जाएं. साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी दुकानदारों, विक्रेताओं, फेरीवाले और व्यापारियों का टीकाकरण या परीक्षण किया गया है और टीकाकरण से बचने वालों को टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित करें.

    उन्होंने कोविड के कारण विधवा महिलाओं की तलाश कर उन्हें सरकार की संजय गांधी निराधार योजना, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विधवा सेवानिवृत्ति योजना और राष्ट्रीय परिवार लाभ योजना के तहत पात्र महिलाओं को लाभ उपलब्ध कराने के निर्देश दिए. सरकारी की ओर से 18 से 44 आयु गुट के व्यक्तियों की वैक्सीनेशन मुहिम प्रारंभ हो रही है. जिससे वैक्सीनेशन केंद्र पर भीड़ की संभावना को देखते हुए वैक्सीनेशन नहीं हुए व्यक्तियों का 20 जून से पूर्व वैक्सीनेशन पूर्ण करने का आहवान जिलाधिकारी पापलकर ने किया है.