नेहरु भवन का प्रस्तावित इमारत
नेहरु भवन का प्रस्तावित इमारत

औरंगाबाद. बीते कई सालों से शहर के सांस्कृतिक केन्द्र के रुप में पहचान बनाए नेहरु भवन की इमारत ध्वस्त कर उस स्थान पर शहर के टीवी सेंटर के तर्ज पर शॉपिंग मॉल विकसित करने का निर्णय मनपा प्रशासन ने लिया है. इसका प्रस्ताव गत वर्ष मनपा की आम सभा में मंजूर हुआ है. इस प्रकल्प पर करीब 30 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे. विशेषकर, इस प्रकल्प के लिए केन्द्र सरकार की ओर से 15 करोड़ का निधि भी मंजुर हुई है.

मनपा प्रशासक पांडेय ने बताया कि दिल्ली के अनुभवी एजेंसी की ओर से नेहरु भवन का डीपीआर तैयार किया जा रहा है. इस काम  पर करीब 30 करोड़ रुपए खर्च होंगे. इसमें 15 करोड़ का निधि यह केन्द्र सरकार की ओर से विशेष योजना से मिलेगा. बाकी 15 करोड़ का निधि मनपा प्रशासन टीवी सेंटर पर निर्माण किए गए शॉपिंग मॉल की तरह दुकान दारों से जमा करेंगा. 

दिल्ली के अनुभवी एजेंसी तैयार कर रही डीपीआर 

कमिश्नर पांडेय ने बताया कि नेहरु भवन के मेगा शॉपिंग मॉल का डीपीआर तैयार करने एजेंसी की नियुक्ति किए जाने का निर्णय हो चुका था. एजेंसी नियुक्ति के लिए जारी निविदा में 4 से 5 एजेंसी धारकों ने हिस्सा लिया था. उस समय दिल्ली के एजेंसी को छोड़कर अन्य एजेंसी को काम देने के लिए शहर के कुछ खास लोगों ने सिफारिशें की थी. प्रशासन ने उन सिफारिशों को ठुकराकर दिल्ली के अनुभवी एजेंसी को डीपीआर तैयार करने का काम दिया है. गौरतलब है कि आरंभ में इस कार्य के लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग के दाम के अनुसार अपेक्षित खर्च करीब 13.23 करोड़ था. इस मॉल से मनपा को 17 करोड़ रुपए उत्पन्न अपेक्षित था. यह बात गत वर्ष तय हुई थी, परंतु अब इस काम पर 30 करोड़ रुपए खर्च हो रहे हैं. 

40 वर्ष पूर्व हुआ था नेहरु भवन का निर्माण 

औरंगाबाद शहर में जब नगर पालिका कार्यरत थी, तब नेहरु भवन का निर्माण करीब 40 वर्ष पूर्व किया गया था. नेहरु भवन में 90 के दशक में  नाटक, मुशायरा, गजलों की मैफिलों का बड़े पैमाने पर आयोजन किया जाता था. बीते कुछ सालों में नेहरु भवन की इमारत खस्ता होने के चलते वहां आयोजित होनेवाले सभी सांस्कृतिक कार्यक्रम बंद कर दिए गए. गत कुछ सालों से नेहरु भवन अपनी दशा पर आंसू बहा रहा है. ऐसे में मनपा प्रशासन द्वारा लिया गया निर्णय शहर को चार चांद लगायेगा.