नाखूनों की सुंदरता बढ़ाने का क्रेज: निधि राजकुमार गुप्ता

  • निधि ने नेल आर्ट को बना दिया ट्रेंडी

नेल आर्ट का क्रेज महिलाओं में, खासकर युवतियों में दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। लड़कियां हाथ-पैरों की खूबसूरती में चार चांद लगाने के लिए नेल आर्ट का सहारा लेती हैं। जिनके नाखून लंबे और शेप में हैं, उन्हें नेल आर्ट करते समय कोई दिक्कत नहीं होती लेकिन जिन लोगों के नाखूनों की ग्रोथ किसी कारणवश नहीं होती, वे अपने हाथों की ब्यूटी बढ़ाने के लिए ट्रिक आजमाते हैं, जिसे नेल एक्सटेंशन कहा जाता है। इन दिनों नेल एक्सटेंशन का ट्रेंड बढ़ता जा रहा है, इससे नाखूनों को लंबा करने के साथ ही मनचाहा शेप दिया जाता है। यह कहना है शहर की फेमस नेल टेक्निशियन निधि गुप्ता का।

नवभारत के ‘बी ब्यूटीफुल’ उपक्रम के तहत की गई बातचीत में हिलटॉप निवासी निधि ने नेल आर्ट के प्रकार और नाखूनों की केयर से संबंधित जानकारी साझा की। निधि सीताबर्डी रेलवे स्टेशन के लेडीज वेटिंग रूम में सुबह 10 से राज 9 बजे तक आपना आर्ट सेशन चलाती हैं। उन्होंने बताया कि वह देश की संभवत: पहली लड़की हैं जो वेटिंग रूम में समय बितानेवाली महिलाओं और युवतियों को ब्यूटीफुल बनाने का काम कर रही हैं। यहां पर कई महिलाएं निधि से अपने नाखूनों पर आर्ट करवाती हैं। निधि कहती हैं कि जिंदगी में कुछ हटकर करने की जिद के कारण वे आज इस मुकाम पर पहुंची हैं। नेल आर्ट और नाखूनों की केयर विषय पर निधि ने विस्तृत जानकारी दी। 

नेल आर्ट कितने प्रकार के हैं?

Nail art manicure

निधि के अनुसार नेल आर्ट कई प्रकार के हैं। दिन-ब-दिन यह ट्रेंड बढ़ता जा रहा है, इसलिए नए-नए डिजाइन आते रहते हैं।

शाइनी क्रोम कलर- क्रोम नेल्स मेटेलिक व हाई पॉलिश मैनिक्योर स्टाइल के होते हैं। यह क्रोम पॉलिश असल में नेल पॉलिश नहीं है बल्कि नाखूनों पर सबसे पहले अप्लाई किया जाने वाला बेस कलर है, जिसके साथ क्रोम पाउडर भी लगा हुआ होता है।

वर्क कलर ब्लॉक- यदि आप अपने नाखूनों पर कलर ब्लॉकिंग करना चाहती हैं तो आप ज्योमेट्री शेप में अलग-अलग कलर से अपने नाखूनों को कलर ब्लॉक कर सकती हैं जो कि देखने में भी काफी सुंदर लगेंगे। यदि आप बहुत तेज व स्ट्रांग कलर प्रयोग करती हैं तो आपको एक मॉडर्न लुक मिलेगा।

फ्रेंच नेल आर्ट विद ट्विस्ट- आज के जमाने में नेल आर्ट में बहुत तरह की विभिन्नताएं आ चुकी हैं। इसलिए यदि आप एक मॉडर्न लुक चाहती हैं तो आपको फ्रेंच नेल्स को एक बार ट्राई करना चाहिए। यह न केवल आपके नेल्स को अच्छे से पॉलिश करेंगे, बल्कि आपके हर पर्व व फंक्शन के साथ एकदम सटीकता से जाएंगे। चाहे आपकी दोस्त की शादी हो या आपके घर कोई पार्टी हो या फिर आपके ऑफिस की कोई मीटिंग हो, यह नेल्स आपको हर तरह का लुक देंगे। यह बहुत वर्सेटाइल है।

नेचुरल कलर- यदि आप नेचुरल कलर लवर हैं तो नेचुरल कलर को अपने नेल्स पर अवश्य एक बार ट्राई करके देखें। नेचुरल कलर हर ओकेजन के साथ सही जाते हैं।

एब्स्ट्रेक्ट नेल आर्ट- यदि आप अपने नाखूनों के साथ कोई नया एक्सपेरिमेंट करना चाहती हैं तो एब्स्ट्रेक्ट नेल्स का प्रयोग कर सकती हैं। इस नेल आर्ट में आप अपनी किसी भी कल्पना को अपने नाखूनों पर छाप सकती हैं।

पोल्का डॉट्स- यदि आप नॉर्मल व बोरिंग स्टाइल को बार-बार ट्राई करते-करते थक गए हैं तो आप पोल्का डॉट्स स्टाइल को ट्राई कर सकती हैं। इसमें आसानी से अलग-अलग प्रकार के डिजाइंस अपने नाखूनों पर बना सकते हैं।

फोर्मिंग भी ट्रेंड में- इन दिनों ट्रांसपैरेंट लुक देने के लिए लोग फोर्मिंग का सहारा ले रहे हैं। लोग जेल एक्सटेंशन व एक्रेलिक एक्सटेंशन, टेंपरेरी व परमानेंट एक्सटेंशन व नेल आर्ट करवाने आते हैं।

इसमें स्पेशल इफेक्ट कैसे दिया जाता है?

अगरबत्ती की लकड़ी से नाखूनों पर मांडवा आर्ट बनाया जाता है। इसके अलावा टूथब्रश से स्प्रे अथवा गीली नेलपॉलिश पर स्ट्रॉ की सहायता से फूंक मारकर मार्बल इफेक्ट लाया जाता है। छोटे बच्चों की पेंटिंग ब्रश से जो कलाकारी की जाती है, उसे उमरे इफेक्ट कहते हैं।

लेटेस्ट फैशन कौन-सा है?

इन दिनों नेल आर्ट में एक नया फैशन ट्रेंड कर रहा है, वह है एक्वेरियम आर्ट। इसमें नाखून की एक परत में जेलयुक्त केमिकल डालकर उसमें जिंदा छोटे आकार की मछली डाली जाती है।

नेल एक्सटेंशन टेक्नीक क्या होती है?

निधि के अनुसार किसी भी नेल आर्ट डिजाइन बनाने से पहले नाखून की क्वालिटी की जांच की जाती है। अगर नाखून छोटा होता है तो उस पर नेल का एक टुकड़ा चिपकाया जाता है। नाखून पर जोड़ न दिखे, इसके लिए ज्वाइंट वाले स्थान पर जेल से फिलअप किया जाता है। ऐसा करने से नाखून में चमक आ जाती है। नेल एक्सटेंशन की इस तकनीक से नाखून लंबे दिखते हैं। अब इस तैयार नाखून पर बारीकी से डिजाइन बनाया जाता है।

यह करना कितना सुरक्षित है?

स्वास्थ्य के हिसाब से यह एकदम सुरक्षित तरीका है। इसमें किसी भी प्रकार के हार्मफुल केमिकल का उपयोग नहीं किया जाता। हम बहुत ही अच्छे ब्रांड का प्रोडक्ट का उपयोग करते हैं। इसमें कोई साइड इफेक्ट नहीं है।

कितने दिन तक चलते हैं एक्सटेंडेड नाखून ?

एक्सटेंडेड नाखून 15 दिन से लेकर एक से डेढ़ माह तक चलते हैं।

नेल आर्ट करने का सही तरीका क्या है?

निधि ने बताया कि अब तक हाथों और नाखूनों की शोभा बढ़ाने के लिए सिंगल कलर नेलपेंट का प्रयोग किया जाता था, लेकिन अब नेल आर्ट के जरिए नाखूनों को अलग और आकर्षक दिखाया जा सकता है। आर्ट में आप मनचाहे अलग-अलग नेल कलर्स का प्रयोग कर सकती हैं और मनचाही डिजाइन्स को नाखूनों पर उकेर सकती हैं। इसे अपनी ड्रेस और ज्वेलरी से मैचिंग कर आप इसका आकर्षण और भी बढ़ा सकती हैं।

  • नेल आर्ट के लिए सबसे पहले आपको अपने नाखूनों की सफाई, उनके आकार और उनकी कंडीशनिंग पर ध्यान देना चाहिए। इसके लिए अपने नाखूनों को नींबू और मीठा सोडा वाले गुनगुने पानी में डालकर रखें और कुछ देर रखने के बाद उन्हें कपड़े से पोंछकर साफ कर लें।
  • इसके बाद नाखूनों को फाइलर की सहायता से मनचाहा आकार दें, ताकि वे कुतरे हुए और बेतरतीब नजर न आएं। आप चाहें तो नाखूनों को गोल, अंडाकार, चौकोर शेप दे सकती हैं।
  • अब नाखूनों पर नेल प्राइमर लगाने के बाद बेस कोट लगाएं। ऐसा करने से नाखून सुरक्षित रहते हैं और उनमें पीलापन नहीं आता। बेस कोट की एक परत सूखने के बाद दूसरा कोट अप्लाई करें और इसके सूखने पर किसी भी अन्य मैचिंग नेल कलर से मनचाही डिजाइन बनाएं।
  • घर पर बारीक ब्रश की सहायता से आप डिजाइन कर सकती हैं या फिर बाजार में नेल आर्ट के लिए काफी सारे टूल्स उपलब्ध हैं जिन्हें प्रयोग करना बेहद आसान है। 
  • अतिरिक्त डेकोरेशन के लिए आप कलरफुल स्टोन, ग्लिटर आदि का प्रयोग कर सकती हैं। डिजाइन पूरी होने के बाद इसे सूखने दें और अंत में शाइनर का प्रयोग करें ताकि नाखूनों में नेचुरल चमक दिखाई दे।

नाखूनों की केयर कैसे की जाती है?

नाखून हमारे हाथों की सुंदरता की पहचान होते हैं लेकिन नाखून काम में भी हमेशा आगे रहते हैं, जिससे इन्हें नुकसान पहुंचता है। घर में रोजमर्रा के काम करते हुए नाखूनों की चमक खो जाती है, उनकी ग्रोथ रुक जाती है। इस प्रकार की समस्या से निपटने के लिए नाखूनों की केयर करना जरूरी है।

  • नमक आपके नाखूनों के लिए बहुत उपयोगी है इसलिए इन्हें नमक के पानी से साफ करें। 4 से 5 चम्मच नमक को एक लीटर पानी में अच्छे से मिला लें, फिर 15 से 20 मिनट तक इसमें अपने हाथों को भिगोकर रखें। हाथों को सुखाकर इन पर ग्लिसरीन लगा दें।
  • नींबू के छिलकों से अपने नाखूनों को स्क्रब करें और जब वह सूख जाए तो धो लें।
  • नाखूनों की खूबसूरती बढ़ाने के लिए गुलाबजल, ग्लिसरीन और हाइड्रोजन पैरॉक्साइड का मिश्रण बनाकर इस्तेमाल करें। 40 मिली। गुलाबजल में 10 ग्राम ग्लिसरीन और 50 मिली। हाइड्रोजन पैरॉक्साइड को मिलाएं। फिर रुई की मदद से अपने नाखूनों पर लगाएं। थोड़ी देर तक इसे स्क्रब करके छोड़ दें और फिर साफ पानी से धो लें।
  • एक टब में गुनगुना पानी लेकर उसमें थोड़ा सा नमक, एक शैम्पू का पाउच डालें और उसमें 20 मिनट तक हाथ डुबोएं। यही क्रिया पैरों के नाखूनों के साथ भी करें।
  • नाखूनों को सिर्फ नेलकटर से ही काटें। नाखूनों को कभी भी दांत से नहीं काटना चाहिए, इससे फंगस संक्रमण फैलने का डर रहता है।

क्यों टूटते हैं नाखून? उन्हें कैसे बचाएं?

उत्तर- कई लोगों के नाखून बेहद आसानी से टूट जाते हैं। इसका कारण या तो नाखून बहुत रूखे होना या फिर उनमें जरूरत से ज्यादा नमी आना हो सकता है। शुष्क और गरम तापमान, डिटर्जेंट के अधिक इस्तेमाल से नाखूनों को नुकसान पहुंचता है। इसलिए जिन लोगों को ज्यादा समय तक पानी या नमीवाली जगह पर काम करना पड़ता है, वो प्लास्टिक या रबड़ के दस्ताने जरूर पहनें। रोज रात को सोने से पहले नाखूनों के किनारों पर पेट्रोलियम जेली लगाएं।

इसके लिए डाइट कितना मायने रखती है?

उत्तर- हेल्दी नाखूनों के लिए विटामीन बी7 जरूरी है। इसे विटामिन-एच भी कहते हैं। यह फूलगोभी, बादाम, अखरोट, दलिया, केले आदि में पाया जाता है। इसके अलावा कैल्शियम और जिंक भी नाखूनों को मजबूत बनाता है। इसलिए डाइट में सोया, दालें, हरी सब्जियां और प्रोटीनयुक्त खाद्य पदार्थ जरूर शामिल करें।