oxygen
Representative Image

  • 10 आक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था कराई

लाखनी. आक्सीजन नहीं मिलने के कारण अनेक मरीजों की हालत बहुत खराब है. यह समाचार सुनकर लाखनी के 4 युवकों ने 24 घंटे में 10 कोविड केयर सेंटर के लिए आक्सीज सिलेंडर की व्यवस्था कराई.

तहसील के आपत्ति व्यवस्थापन तथ स्वास्थ्य विभाग की ओर से समर्थ महाविद्यालय की भगिनी निवेदिता छात्रावास में कोविड केयर केंद्र की स्थापना की. यहां 60 बेड की व्यवस्था है. आक्सीजन की कमी होने के कारण इस केंद्र के लिए आक्सीजन की व्यवस्था नहीं हो पाई थी, जब यह बात शहर के युवक संदीप भांडारकर, सचिन घाटबांधे, करण व्यास व प्रणय शामकुवर को पता चली.

लाखनी तथा उसके आसपास के परिसर के गैस वेल्डिंग करने वाले तथा रद्दी से जुड़ा व्यावसाय करने वालों से खाली सिलेंडर जमा करने की योजना बनायी. इन चारों युवकों ने तहसीलदार मलिक विराणी से मुलाकात की और उन्हें अपनी योजना के बारे में जानकारी दी और इस कार्य के लिए उनकी अनुमति भी मांगी.

तहसीलदार ने तुरंत जिलाधिकारी कार्यालय से संपर्क किया. गैस वेल्डिंग तथा भंगार व्यापारियों के पास से सिलेंडरों को अधिग्रहित करने के आदेश मिले. इसके बाद उक्त चार युवकों ने शहर तथा परिसर के लगभग 10 सिलेडर एकत्र किए. स्वास्थ्य विभाग की ओर से भी कुछ सिलेंडर मिले.

सभी सिलेंडरों को जमा करने के बाद उन्हें मौदा के जगदंबा इंडस्ट्रियल गैस के संचालक मित्तल से संदीप भांडारकर ने संपर्क स्थापित किया और कोरोना मरीजों की मदद के लिए आक्सीजन देने की अपील की, उन्होंने सामाजिक जवाबदारी को समझते हुए आक्सीजन दिया.