Image: Shobha Katuru/Linkedin
Image: Shobha Katuru/Linkedin

    नई दिल्ली: आज के समय में पढ़ाई कितनी महत्वपूर्ण (Importance Of Eductation) है, इस बात की जानकारी बहुत से लोगों को है। लेकिन, भारत (India) में आज भी कुछ ऐसी जगह हैं, जहां पढ़ाई को इतनी अहमियत नहीं दी जाती है। खासकर यह नियम लड़कियों पर लागू किया जाता है। आज के ज़माने में भी कुछ लोगों की सोच ऐसी है कि लड़कियों को पढ़ाकर कोई मतलब नहीं होता क्योंकि उन्हें आगे चलकर अपनी गृहस्ती ही संभालनी है। लेकिन, आज हम जिस लड़की की कहानी आपको बताने जा रहे हैं, वह हर एक लड़की के लिए प्रेरणा है। वह अपने गांव की इकलौती ऐसी लड़की है, जिसने ग्रेजुएट कर अपने पापा और माँ का नाम रोशन किया है, साथ ही अपने गांव का गर्व भी बनी है। यह कहानी आंध्र प्रदेश (Andra Pradesh) के छोटे से गांव की रहने वाली शोभा कटुरू (Shobha Katuru) की है। 

    शोभा कटुरू ने लिंक्डइन (Linkedin) में अपनी कहानी बताई। उनके अनुसार, वह उस गांव की रहने वाली है, जिस गांव में लड़कियों को पढ़ना ज़रूरी नहीं समझा जाता है। वहां की लड़कियों की 10वी के बाद ही शादी करवा दी जाती है। लेकिन, शोभा को ये सब नहीं करना था, वह अपनी लाइफ से बहुत कुछ चाहती थी। उसने 10वी में प्रथम स्थान हासिल किया था, जिसके बाद उसे एक गवर्नमेंट कॉलेज में आगे की पढ़ाई के लिए मुफ्त सीट मिली। लेकिन, शोभा के घर वाले उसकी आगे की पढ़ाई के खिलाफ थे, बाद में जब उसके चाचा ने उसके माता-पिता को समझाया तो वह इस बात के लिए राजी हो गए। 

    कोरोना महामारी के दौरान कब ऑनलाइन क्लासेज होने लगी तब शोभा को थोड़ी परेशानियों का समाना करना पड़ा। क्योंकि उसके पास लैपटॉप नहीं था, इसलिए वह अपने पुराने फोन से ही काम चलाती थी और अपनी पढ़ाई करती थी। बाद में उसे इंटरनेट की भी दिक्कत आने लगी क्योंकि, गांव में इतनी फैसिलिटी नहीं थी। इसलिए वह सुबह जल्दी उठती थी और अपने घर की छत पर जाकर दोपहर तक अपनी पढ़ाई पूरी कर लेती थी।           

    बाद में एक इंटरव्यू के समय में शोभा के चचेरे भाई ने उसे अपना फोन और डेटा पैक रिचार्ज करके दिया। जो उसके बहुत काम आया और उससे शोभा की बहुत हेल्प हुई। शोभा के अनुसार, उसके आसपास के लोग उसकी पढ़ाई करने की जिद को समझ नहीं पा रहे थे। इसलिए वह ताने भी मारते थे कि ये सब पढाई लड़कियों के काम नहीं आएगी, ये सब बेकार है, लेकिन शोभा ने इन सब बातों को साइड में रखा और मन लगाकर खूब पढ़ाई की। जिसके जरिए आज वह अपने गांव में पहली बार ऐसी लड़की है, जिसने अपना ग्रेजुएशन कम्पलीट किया है और आईटी की नौकरी हासिल की। अब उसे कोई ताने भी नहीं मारता बल्कि अब सब शोभा की तारीफ करते हैं। शोभा Systech Solutions, Inc। में डेटा इंजीनियर ट्रेनी के रूप में काम करती है।