Noel Tata Soon To Be Director Of Tata Sons

    मुंबई. देश का सबसे पुराना और सबसे बड़ा औद्योगिक समूह टाटा ग्रुप (Tata Group) अपनी प्रगति तेज करने के लिए प्रबंधन (Management) में शीर्ष स्तरों पर अहम बदलाव करने जा रहा है। अब ग्रुप के पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष रतन टाटा (Ratan Tata) के छोटे भाई और ग्रुप की कंपनियों ट्रेंट एवं टाटा इन्वेस्टमेंट के अध्यक्ष नोएल टाटा (Noel Tata) को भी टाटा ग्रुप की होल्डिंग कंपनी टाटा सन्स लिमिटेड (Tata Sons Ltd.) के बोर्ड में लाया जा रहा है।

    साथ ही उन्हें कई महत्वपूर्ण दायित्व दिए जाएंगे। सूत्रों के अनुसार, इस बारे में अंतिम निर्णय हो चुका है और बहुत जल्द इसकी घोषणा होने की उम्मीद है। नोएल टाटा मार्केटिंग में एक्सपर्ट माने जाते हैं और उनके टाटा सन्स के निदेशक बनने से टाटा ग्रुप को मजबूती मिलेगी।  

    कौन हैं नोएल टाटा?

    खबरों में बहुत कम रहने वाले 63 वर्षीय नोएल टाटा, रतन टाटा के सगे नहीं सौतेले भाई हैं। वे रतन टाटा के पिता नवल होमी टाटा की दूसरी पत्नी सिमोन टाटा के पुत्र हैं, जो स्विस नागरिक हैं और लक्मे की अध्यक्षा रह चुकी हैं। अब वे काफी वृद्ध होने के कारण सेवानिवृत हैं। स्व. नवल होमी टाटा की पहली पत्नी स्व. सिल्लू टाटा के पुत्र रतन टाटा हैं। इस तरह नोएल टाटा रतन टाटा के सौतेले भाई हैं। उनकी पत्नी आलू मिस्त्री (Aloo Mistry) साइरस मिस्त्री (Cyrus Mistry) की बहन हैं। नोएल ने ब्रिटेन और फ्रांस में रहकर उच्च प्रबंधन शिक्षा ग्रहण की है और करीब तीन दशकों से ग्रुप में एक्टिव हैं।  

    रिटेल बिजनेस को चमकाया

    नोएल टाटा, ग्रुप की कई कंपनियों का नेतृत्व कर रहे हैं। वे ट्रेंट (Trent) के अध्यक्ष, टाटा इन्वेस्टमेंट कॉर्पोरेशन (Tata Investment) के अध्यक्ष, गोल्ड ज्वैलरी कंपनी टाइटन इंडस्ट्रीज (Titan) के उपाध्यक्ष और टाटा इंटरनेशनल (Tata International) के प्रबंध निदेशक हैं। उन्होंने ग्रुप के अंतर्राष्ट्रीय कारोबार का संचालन करने वाली कंपनी टाटा इंटरनेशनल से अपने करियर की शुरुआत की। टाटा ग्रुप के रिटेल बिजनेस को चमकाने में नोएल टाटा का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। ट्रेंट लिमिटेड के अधीन फैशन अपैरल बिजनेस (वेस्टसाइड), ग्रोसरी-एफएमसीजी बिजनेस (स्टार बाजार) और इलेक्ट्रोनिक्स (क्रोमा) को सफल और लाभदायी बनाने में नोएल टाटा की अहम भूमिका रही है। साथ ही रिटेल कॉफी चैन ‘स्टारबक्स’ को भी उन्होंने भारत में सफलता दिलाई है।

    देंगे अध्यक्ष चंद्रशेखरन का साथ

    नोएल टाटा, ग्रुप को आगे बढ़ाने और नए उभरते क्षेत्रों में विस्तार में मौजूदा कार्यकारी अध्यक्ष एन. चंद्रशेखरन (N. Chandrasekaran) का साथ देंगे। ग्रुप की आईटी कंपनी टीसीएस (TCS) को 30 साल तक सेवाएं देने वाले 58 वर्षीय चंद्रशेखरन को अक्टूबर 2016 में टाटा सन्स का निदेशक बनाया गया था और साइरस मिस्त्री की जगह जनवरी 2017 में कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया। टाटा के इतिहास में पहली बार गैर टाटा और गैर पारसी व्यक्ति को अध्यक्ष बनाया गया था । हालांकि उनके कुशल नेतृत्व में ग्रुप ने शानदार प्रगति की है और ग्रुप का मार्केट कैप 18 ट्रिलियन रुपए से अधिक हो गया है।