Amazon and Reliance

नयी दिल्ली. मीडिया में रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के अपनी खुदरा इकाई ‘रिलायंस रिटेल’ में 40 प्रतिशत हिस्सेदारी अमेजन को बेचने की अटकलें हैं। यह सौदा 20 अरब डॉलर होने की संभावना है। एक समाचार एजेंसी ने अपने सूत्र के हवाले से खबर दी है कि अमेजन ने आरआईएल की खुदरा कारोबार इकाई ‘रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड’ में निवेश को लेकर बातचीत की है और संभावित निवेश को लेकर रुचि दिखायी है।

रपट में आगे कहा गया है कि रिलायंस अपनी इस इकाई में 40 प्रतिशत तक हिस्सेदारी अमेजन को बेचना चाहती है। यह सौदा 20 अरब डॉलर का हो सकता है। यह भारत में अब तक का सबसे बड़ा विनिवेश सौदा होगा। बहरहाल रिलायंस और अमेजन दोनों ने ही इस रपट को लेकर कोई भी टिप्पणी करने से इनकार किया है।

रिलायंस ने ईमेल पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा है, ‘‘रिलायंस इंडस्ट्रीज अथवा उसकी समूह कंपनियों में पूंजीगत सौदों को लेकर की गयी एकतरफा, गलत और काल्पनिक रपटों पर टिप्पणी नहीं करने की नीति है। हम इस तरह के किसी भी सौदे के बारे में न तो पुष्टि करते हैं और न ही उससे इनकार करते हैं जिस पर बातचीत चल रही हो अथवा नहीं भी चल रही हो।” कंपनी ने शेयर बाजारों को भी इसी प्रकार की प्रतिक्रिया भेजी है। रिलायंस ने कहा कि कंपनी में विभिन्न अवसरों को लेकर लगातार मूल्यांकन चलता रहता है।

कंपनी सूचीबद्धता दायित्व और सूचना सार्वजनिक करने के नियमों का पालन करती है और वह अनिवार्य सूचनाओं की लगातार जानकारी देती रहेगी। रिलायंस ने कहा है कि इस संदेश के जरिये हम मीडिया से अपील करते हैं कि वह इस तरह की मनगढ़ंत सूचनाओं की सावधानी से छानबीन करे और इस तरह की गलत और भ्रम फैलाने वाली रपट के प्रकाशन से खुद को तथा अपने पाठकों को सुरक्षित रखे। इनमें कंपनी के बहुत से खुदरा निवेशक भी हो सकते हैं।

अमेजन का फ्यूचर समूह में भी निवेश है। फ्यूचर समूह के कारोबार का रिलायंस इंडस्ट्रीज ने पिछले महीने के आखिर में 24,713 करोड़ रुपये में अधिग्रहण कर लिया। रिलायंस ने बुधवार को ही रिलायंस रिटेल की 1.75 प्रतिशत हिस्सेदारी सिल्वेर लेक को 7,500 करोड़ रुपये में बेचने की घोषणा भी की। कंपनी ने कहा कि इस तरह की और बिक्री भी हो सकती हैं। बहरहाल रपट के अनुसार अमेजन ने अपने संभावित निवेश के आकार को लेकर कोई अंतिम निर्णय नहीं किया है। (एजेंसी)