Adani Group becomes third group to achieve market capitalization of over $ 100 billion
File photo

Loading

दिल्ली: अमेरिकी शॉर्ट सेलर हिडेनबर्ग (Hindenburg) की रिपोर्ट के बाद संकट में फंसे अदानी ग्रुप (Adani Group) के लिए अच्छी खबर है। अदानी ग्रुप ने कर्ज (Loan) चुकाने के लिए लगभग 3 अरब डॉलर की व्यवस्था की है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, सॉवरेन वेल्थ फंड (Soverign Wealth Fund) ने अडानी ग्रुप को 3 अरब डॉलर का लोन मंजूर किया है। हिडेनबर्ग की रिपोर्ट में आरोपों के बाद अडानी ग्रुप अपना क्रेडिट प्रोफाइल (Credit Profile) सुधारने के लिए छटपटा रहा है।

कई बड़े बैंको ने अडानी समूह को कर्ज देने में दिखाई दिलचस्पी 

अडानी ग्रुप ने इन्वेस्टरों (Investors) का विश्वास जीतने के लिए 27 फरवरी से 1 मार्च तक द हेग और सिंगापुर (Singapore) में रोड शो आयोजित किया है। इस रोड शो (Road Show) में कई बड़े बैंको (Banks) ने अडानी समूह को कर्ज देने में दिलचस्पी दिखाई है। इसे सॉवरेन वेल्थ फंड से 3 बिलियन डॉलर के लोन के रूप में सहायता प्राप्त हुई है। इस राशि को 5 अरब डॉलर तक बढ़ाया जा सकता है। इस संबंध में अडानी समूह की ओर से कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है।

3 वर्षों में लोन चुकाने के लिए पर्याप्त कॅश

अडानी समूह इस साल मार्च के अंत तक $69 करोड़ और $79 करोड़ के बीच शेयर द्वारा मिले लोन को पहले पेमेंट या चुकाने की योजना बना रहा है। रोड शो में भाग लेने वाले अधिकारियों के अनुसार अडानी समूह के पास 800 मिलियन डॉलर की लोन सुविधा के साथ तीन वर्षों में लोन चुकाने के लिए पर्याप्त कॅश है। सूत्रों के अनुसार, सितंबर 2023 में अडानी ग्रीन एनर्जी (Adani Green Energy) के $750 मिलियन 4.375% यील्ड बॉन्ड को रिफाइनेंस (Refinance) करने के लिए $800 मिलियन की क्रेडिट (Credit) सुविधा का उपयोग किए जाने की संभावना है।