मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी को आंदोलन का रूप दे – सीएम ठाकरे

  • जिले में स्वास्थ्य सर्वे के लिए 1967 टीम कार्यरत

चंद्रपुर. कोरोना पर मात करने के लिए मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी मुहिम सफलतापूर्वक चलाये इस मुहिम में सभी का सहयोग आवश्यक है। इस मुहिम को आंदोलन का रूप दे ऐसा प्रतिपादन प्रदेश के मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे ने किये।

मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे ने नागपुर विभाग के जिलों से चीडियो कान्फरन्स के माध्यम से संवाद साधा। स्वयं के साथ साथ अपने परिवार का संरक्षण यह मेरा परिवार मेरी जिम्मे्दारी मुहिम का उद्देश्य है। यह मुहिम अब सभी ओर प्रभावी रूप से चलाया जाए ऐसा विश्वास उन्होने व्यक्त किया। रैपीड एन्टीजेन टेस्टिंग का प्रमाण बढाने की आवश्यकता है। आरटी पीसीआर टेस्ट की संख्या बढाना आवश्यक है। जिनका एन्टीजेन टेस्ट निगेटीव आया हो और लक्षण नजर आ रहे हो तो आरटी_पीसीआर टेस्ट होना आवश्यक है। होम क्वारटाइन किए गए व्यक्ति को हम घर जाने देते है परंतु लक्षण ना होने से ऐसे लोग बाहर घुमते है और इसके कारण अन्य लोग प्रभावित होते है। जनजागृति पर जोर देने की आवश्यकता है। बिना मास्क पहने घर के बाहर न निकले। इसका उल्लंघन करनेवालों को दंडित करें। 

कोरोना पर अंकुश लगाने के लिए प्रत्येक जिले में स्वास्थ्य विभाग की टास्क फोर्स तैयार की गई है। इस टास्क फोर्स से निसंकोच रूप से संपर्क करें। मेरा परिवार मेरी जिम्मेदारी मुहिम के तहत प्रतयेक परिवार को अपने सभी सदस्यों का ध्यान रखना होगा। लॉकडाऊन के चलते अपने जीवनशैली में बदलाव लाना होगा। ठाकरे ने नवरात्र उत्सव को सादगी से मनाने का आवाहन किया।

जिलाधिकारी अजय गुल्हाने ने इस मुहिम अंतर्गत जिला प्रशासन द्वारा चलाये जा रहे नवीन्यपूर्ण उपक्रम एवं उपाययोजना की जानकारी दी। जिले भर में स्वास्थ्य सर्वेक्षण के लिए कुल 1967  टीमें कार्यरत है सभी को प्रशिक्षण एवं स्वास्थ्य जांच किट दी गई है। गांव के सभी सरपंच, पं.स. सभापति, जि.प. सदस्य एवं संबंधित विधानसभा क्षेत्र के जनप्रतिनिधि के सहायता से गांव गांव मे घर घर में भेट देकर स्वास्थ्य की जांच एवं जनजागृति मुहिम बड़े पैमाने पर चलायी जाएगी। इसके अलावा अन्य माध्यमों से जनजागृति की जाएगी।

जिले के पालकमंत्री विजय वडेट्टीवार ने जिले में एक हजार बेड बढाये जाने एवं अगले दस से बारह दिनों में जिले में बेड की कमी नहीं होने की बात कही। 

इस अवसर पर जिलाधिकारी अजय गुल्हाने, अतिरिक्त जिलाधिकारी विद्युत वरखेडकर, निवासी उपजिलाधिकारी मनोहर गव्हाड,  पुलिस अधीक्षक अरविंद सालवे, मनपा आयुक्त राजेश मोहिते, जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. राजकुमार गहलोत, जिला शल्य चिकित्सक डा. निवृत्ति राठोड, शासकीय वैद्यकीय महाविद्यालय एवं अस्पताल के डीन डा. एस.एन. मोरे आदि उपस्थित थे।