Explosive
File Photo

रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhatisgarh) के नक्सल प्रभावित सुकमा (Sukma) और दंतेवाड़ा जिले (Dantewada District) के सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षा बलों ने नक्सलियों से मुठभेड़ (Encounter) के बाद भारी मात्रा में विस्फोटक और अन्य सामान बरामद किया है। वहीं विस्फोट में सुरक्षा बल का एक जवान घायल हो गया है। बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक पी. सुंदरराज ने शुक्रवार को बताया कि सुकमा और दंतेवाड़ा जिले के सीमावर्ती क्षेत्रों में पिछले तीन दिनों से सुरक्षा बलों ने अभियान चलाकर नक्सली शिविर को ध्वस्त कर दिया है।

सुंदरराज ने बताया कि क्षेत्र में दरभा डिविजन कमेटी के सदस्यों की उपस्थिति की सूचना के बाद डीआरजी, एसटीएफ और सीआरपीएफ के संयुक्त दल को 23 दिसंबर से गोगुंडा, हिड़मा, बेड़मा, नागाराम, पुजारीपारा, गुमोड़ी, पोरो गुमोडी, पोरो हिड़मा, नहाड़ी, ककाड़ी और आसपास के जंगल की ओर रवाना किया गया था।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि तीन दिनों के इस अभियान के दौरान बृहस्पतिवार को गोगुंडा तथा आज ककाड़ी में पुलिस दल के साथ नक्सलियों की मुठभेड़ हुई, कुछ देर तक दोनों ओर से गोलीबारी के बाद नक्सली शिविर छोड़कर भाग गए। उन्होंने बताया कि बाद में जब पुलिस दल ने घटनास्थल की तलाशी ली तब वहां जगह-जगह खून के धब्बे तथा घसीटने के निशान मिले, दोनों मुठभेड़ में चार से पांच नक्सलियों के मारे जाने या घायल होने की संभावना है।

सुंदरराज ने बताया कि मुठभेड़ के बाद पुलिस ने दोनों ही स्थानों से बारूदी सुरंग, पिट्ठू बैग, जिलेटिन की छड़े, कोर्डेक्स वायर, डेटोनेटर, इलेक्ट्रिक वायर, रेडियो, दवाएं, पटाखे, नक्सली साहित्य और अन्य दैनिक उपयोगी सामाग्री बरामद किया गया है।

उन्होंने बताया कि नक्सलियों के दोनों शिविरों को ध्वस्त कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि पुलिस दल जब मुठभेड़ के बाद अभियान में था तब ककाड़ी गांव के करीब नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर दिया, इस घटना में डीआरजी का एक जवान मामूली रूप से घायल हो गया उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि क्षेत्र में नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी है। (एजेंसी)