गायकवाड़ का अर्धशतक, चेन्नई ने चखा जीत का स्वाद

दुबई. सैम कुरेन की अगुवाई में गेंदबाजों से मिली अच्छी शुरुआत के बाद युवा बल्लेबाज रितुराज गायकवाड़ ने जोश और जज्बा दोनों दिखाया जिससे खिताब की दौड़ से लगभग बाहर हो चुकी चेन्नई सुपरकिंग्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मैच में रविवार को यहां रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) को आठ विकेट से हराया।

पिच धीमी थी लेकिन चेन्नई के सामने केवल 146 रन का लक्ष्य था जिसे हासिल करने में उसे कोई दिक्कत नहीं हुई। सलामी बल्लेबाज गायकवाड़ ने 51 गेंदों पर चार चौकों और तीन छक्कों की मदद से नाबाद 65 रन बनाये।

उन्होंने अंबाती रायुडु (27 गेंदों पर 39, तीन चौके, दो छक्के) के साथ दूसरे विकेट के लिये 67 रन की साझेदारी की। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी 19 रन बनाकर नाबाद रहे जबकि गायकवाड़ ने क्रिस मौरिस पर विजयी छक्का लगाकर चेन्नई का स्कोर 18.4 ओवर में दो विकेट पर 150 रन तक पहुंचाया।

आरसीबी ने कोहली की 43 गेंदों पर खेली गयी 50 रन की पारी और एबी डिविलियर्स (36 गेंदों पर 39) रन के साथ उनकी 82 रन की साझेदारी के बावजूद छह विकेट पर 145 रन बनाये। आरसीबी ने अंतिम तीन ओवरों में केवल 20 रन बनाये और इस बीच चार विकेट गंवाये। चेन्नई की तरफ से सैम कुरेन ने तीन ओवर में 19 रन देकर तीन जबकि दीपक चाहर ने चार ओवर में 31 रन देकर दो विकेट लिये।

आरसीबी की यह 11 मैचों में चौथी हार है। उसके अब भी 14 अंक हैं लेकिन वह तीसरे स्थान पर बना हुआ है। चेन्नई की 12 मैचों में चौथी जीत है और आठ अंक के साथ वह अंकतालिका में सातवें स्थान पर पहुंच गया है। फाफ डुप्लेसिस (13 गेंदों पर 25, दो चौके, दो छक्के) और गायकवाड़ ने चेन्नई को आक्रामक शुरुआत दी। पहले चार ओवरों में 40 रन बने तो कोहली को पांचवें ओवर में ही युजवेंद्र चहल (21 रन देकर एक) को गेंद थमानी पड़ी जो अमूमल पावरप्ले के बाद गेंदबाजी के लिये आते हैं।

पावरप्ले के अंतिम दो ओवरों में केवल आठ रन बने। चहल ने दबाव बनाया और इसका फायदा क्रिस मौरिस ने डुप्लेसिस को आउट करके उठाया। धोनी ने कहा था कि उनके युवाओं में जोश की कमी है लेकिन गायकवाड़ ने दिखाया कि अगर उन्हें लगातार मौके मिलें तो वे अपना जोश और जज्बा दिखा सकते हैं। इस 23 वर्षीय बल्लेबाज ने स्पिनरों का सहजता से खेलकर वाशिंगटन सुंदर और मोईन अली दोनों पर उन्होंने बड़े शॉट लगाये तथा 42 गेंदों पर आईपीएल का अपना पहला अर्धशतक पूरा किया। रायुडु ने क्रीज पर उतरते ही लय पकड़ ली थी।

नवदीप सैनी और मोहम्मद सिराज पर उन्होंने दर्शनीय छक्के लगाये। जब आरसीबी को विकेट की सख्त दरकार थी तब चहल ने गेंद थामी तथा रायुडु को बोल्ड किया। इसके बाद हालांकि धोनी ने गायकवाड़ के साथ मिलकर टीम को सहजता से लक्ष्य तक पहुंचाया। इससे पहले आरसीबी ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया।

आरोन फिंच (11 गेंदों पर 15) और देवदत्त पडिक्कल (21 गेंदों पर 22) ने पहले विकेट के लिये 31 रन ही जोड़े और फिर से लंबी भागीदारी निभाने में नाकाम रहे। पडिक्कल का कैच डु प्लेसिस के बेहतरीन प्रयास से सीमा रेखा पर गायकवाड़ ने लिया।

डिविलियर्स और कोहली चेन्नई के स्पिनरों इमरान ताहिर (चार ओवरों में 30 रन), मिशेल सेंटनर (चार ओवर, 23 रन एक विकेट) और रविंद्र जडेजा (तीन ओवर में 20 रन) के सामने बीच के ओवरों में खुलकर नहीं खेल पाये। कोहली ने 28वीं गेंद का सामना करते हुए अपना पहला चौका लगाया।

आरसीबी 15वें ओवर में तिहरे अंक में पहुंचा। कोहली ने आखिर में जडेजा पर पारी का दूसरा छक्का लगाया। यह आईपीएल में उनका 200वां छक्का है। वह यह उपलब्धि हासिल करे वाले पांचवें बल्लेबाज हैं। इस सूची में क्रिस गेल (336 छक्के) के बाद दूसरे नंबर पर काबिज डिविलियर्स (231) अपनी पारी का पहला छक्का जड़ने के प्रयास में लांग आन पर कैच दे बैठे। मोईन अली (01) ने भी कैच का अभ्यास कराया। कोहली ने 42 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया लेकिन इसके बाद डुप्लेसिस के बेहतरीन प्रयास से पवेलियन लौट गये। क्रिस मौरिस (दो) भी आखिरी ओवरों में जलवा नहीं दिखा पाये। (एजेंसी)