Steave-Waugh-Anil-Kumble

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान और दिग्गज क्रिकेटर स्टीव वॉ (Steve Waugh) ने टीम इंडिया के  के पूर्व लेग-ब्रेक स्पिनर अनिल कुंबले (Anil Kumble former Indian Team leg-spinner) की खूब तारीफ की और उन्हें एक शानदार प्रतियोगी के तौर पर सम्मानित किया। क्रिकेट और अपने देश के प्रति अपनी गेंदबाजी में विविधता और समर्पण के लिए स्टीव वॉ ने अनिल कुंबले को भारत की बोलिंग अटैक का ‘राहुल द्रविड़’ करार दिया।

टीम इंडिया के पूर्व चीफ़ कोच अनिल कुंबले को भारत का सर्वश्रेष्ठ लेग स्पिनर के तौर पर जाना जाता है। यकीनन अनिल कुंबले क्रिक्रेट की दुनिया के एक अनुपम खिलाड़ी रहे, जो अपनी ख़ास स्पिन गेंदबाज़ी के लिए लाजवाब भी रहे।  टेस्ट क्रिकेट में भारत के लिए सबसे ज्यादा विकेट हासिल करने वाले खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अपने करियर में 271 वनडे मैचों में 337 और 132 टेस्ट मैच खेलकर 619 विकेट हासिल किए।

जब एक दिग्गज ने की दूसरे लीजेंड की प्रशंसा 

अनिल कुंबले ने 271 वनडे इंटरनेशनल (ODI) में 4.30 की इकॉनमी रेट से 337 विकेट लिए। भारत के लिए दिग्गज गेंदबाज अनिल कुंबले के योगदान पर स्टीव वॉ ने कहा कि वह शायद ही किसी भी मैच को मिस करते हैं जहां लेग स्पिनर ने कोई ढिलाई करी हो। उन्होंने कहा, वह (Anil Kumble) गजब प्रतियोगी थे। वह हमेशा आप पर हावी रहते थे और आपको कभी एक इंच भी नहीं दिया। मैं उन्हें हमारे (ऑस्ट्रेलिया) खिलाफ खराब गेंदबाजी के लिए याद नहीं रख सकता। वह अपनी गेंदबाजी लाइन अप के द्रविड़ की तरह थे। कप्तान को पता होता था कि वे उससे वो क्या हासिल करने जा रहे हैं।”

अनिल कुंबले को कहा गेंदबाजी का राहुल द्रविड़        

हमने निश्चित रूप से अनिल कुंबले को एक लेग स्पिनर के रूप में नहीं खेला: स्टीव वॉ

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान और धाकड़ बल्लेबाज़ स्टीव वॉ ने अपने करियर में 57 टेस्ट मैचों में अपने देश कि टीम की कप्तानी की। उनकी कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया ने 41 मैचों में जीत हासिल की। स्टीव वॉ ने कहा कि अनिल कुंबले एक बहुत ही भावुक क्रिकेटर थे और हमेशा अपनी ब्लू जर्सी (Indian Blue Jersey) पर गर्व करते थे। उन्होंने ये भी बताया कि अनिल कुंबले अपनी गेंदबाज़ी की गति में बदलाव करते थे और बल्लेबाजों को उन्हें लेग स्पिनर की तुलना में धीमी गति से तेज गेंदबाज की तरह खेलना पड़ता था।

कुंबले को मीडियम पेसर की तरह खेला – स्टीव वॉ

ऑस्ट्रेलिया केनपूर्वा दिग्गज कप्तान स्टीव वॉ ने कुंबले के बारे कहा कि, “मुझे नहीं लगता कि मैंने किसी ऐसे व्यक्ति के लिए खेला, जिसने देश के लिए खेलने का उतना ही आनंद लिया जितना उन्होंने (अनिल कुंबले) किया। यह उसके लिए सब कुछ था। हमने यकीनन उन्हें एक लेग स्पिनर के रूप में नहीं खेला। हमने उन्हें धीमी गति के गेंदबाज की तरह खेला।”

स्टीव ने आगे कहा, “उनके (अनिल कुंबले) पास गति का एक बड़ा बदलाव था। यह सब विविधताओं के बारे में था, क्रीज का उपयोग। उन्होंने इसे थोड़ा मिश्रित किया। विकेट में कुछ भी खुरदरा या असमान होना, और वह फिर ख़तरनाक थे।”

– विनय कुमार