ब्रैड हैडिन ने क्यों कहा- शॉन मार्श का समय खत्म?

– विनय कुमार

बॉर्डर- गावस्कर ट्रॉफी ( Border-Gavaskar Trophy, 2020-2021) के 4 मैचों की टेस्ट सीरीज 17 दिसंबर 2020 से शुरू होने जा रही है। भारत (India) और ऑस्ट्रेलिया (Australia) के बीच 17 दिसंबर से शुरू होने वाले चार मैचों की टेस्ट सीरीज से पहले ऑस्ट्रेलिया उत्साह की स्थिति से गुजर रहा है। क्योंकि, टीम ऑस्ट्रेलिया को अभी अपनी सलामी बल्लेबाज़ों का कॉम्बिनेशन फाइनल करना बाकी है। 

ऑस्ट्रेलिया का टॉप ऑर्डर फिलहाल चोट के संकट से जूझ रहा है, जिसे देखते हुए ये माना जा रहा है कि बाएं हाथ के धाकड़  बल्लेबाज शॉन मार्श (Shaun Marsh) को करीब 2 साल बाद टेस्ट मैचों में वापसी करने की इजाज़त मिल सकती है।

गौरतलब है कि, ऑस्ट्रेलिया (Australia) के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर (David Warner) सफेद गेंद के फ़ॉर्मेट में खेलते हुए चोटिल हो गए थे और भारत के खिलाफ होने वाले पहले टेस्ट मैच से बाहर हो गए थे। ठीक ऐसा ही मामला विल पोकोवस्की (Will Pucovski) के साथ हुआ। जो पारी भारत-ए (INDIA-A) के खिलाफ पहले प्रैक्टिस मैच के दौरान उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ा। जिसके कारण विल पहले मैच में सिलेक्शन के लिए नहीं होंगे।

37 साल के हो चुके हैं मार्श

ऑस्ट्रेलिया (Australia) के पूर्व विकेटकीपर-बल्लेबाज ब्रैड हैडिन (Brad Haddin) ने बयान दिया कि शॉन (Shaun Marsh) एक आइडियल कंटेस्टेंट नहीं हैं। क्योंकि, फिलहाल ऑस्ट्रेलिया मार्श से अलग किसी और खिलाड़ी की तलाश में है। हालांकि, ब्रैड हैडिन ने ये माना था कि शॉन मार्श ने ‘शेफील्ड शील्ड ट्रॉफी’ (Sheffield Trophy) में अच्छा प्रदर्शन किया था, लेकिन हैडिन ऑस्ट्रेलिया की टीम में यंग खिलाड़ी के पक्ष में थे। क्योंकि, शॉन मार्श 37 साल के हो चुके हैं।

अब किसी और को मिलेगा माैका    

ब्रैड हैडिन (Brad Haddin) ने FOX CRICKET पर कहा, “मुझे लगता है कि शॉन मार्श का समय पूरा हो गया है। उन्होंने शेफील्ड शील्ड सीजन की शुरुआत अच्छा किया। उन्होंने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन किया। लेकिन, उनकी उम्र 37 साल है। आपको आगे बढ़ना है। सभी चाहते हैं कि वह फिर से ऑस्ट्रेलिया के लिए खेले, क्योंकि वो बीतने अच्छे इन्सान हैं। लेकिन मुझे लगता है कि हमें किसी और को अब माैका देना होगा।”

फॉर्म से जूझते नज़र आए शॉन मार्श    

बीते साल 2018-19 में जब भारत ‘बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी’ (Border-Gavaskar Trophy) ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर था और उस सीरीज में भारत ने ऑस्ट्रेलिया (Australia) को 2-1 से हराया था। ये ऑस्ट्रेलिया में भारत की ऐतिहासिक जीत थी। इसी सीरीज में ऑस्ट्रेलिया की ऐतिहासिक हार के बाद शॉन मार्श (Shaun Marsh) को ऑस्ट्रेलिया की टीम से बाहर कर दिया गया था। मार्श को फॉर्म से जूझते देखा गया था। वह 4 मैचों में 36.14 की औसत से सिर्फ़ 183 रन ही बना पाए था।

ब्रैड हैडिन (Brad Haddin) नहीं चाहते हैं कि 37 साल के हो चुके शॉन मार्श इस उम्र में ऑस्ट्रेलिया की ईटेस्ट टीम में रहें। अलांकी, थोड़े दिन पहले ऑस्ट्रेलिया के चीफ़ कोच जस्टिन लैंगर (Justin Langer) ने इशारा दिया था कि शॉन मार्श (Shaun Marsh) भारत के खिलाफ होने जा रहे मैचों में ओपनिंग बैट्समैन के तौर पर टीम में शामिल हो सकते हैं। कभी भी उम्र के आधार पर भेदभाव नहीं करना चाहिए।

जस्टिन लैंगर (Justin Langer) ने कहा था, “आप कभी भी उम्र को लेकर भेदभाव नहीं कर सकते। वह (शॉन मार्श) हर संभव कोशिश कर रहे हैं। ‘शेफील्ड शील्ड क्रिकेट’ में उनका स्कोर बेहतर देखा गया।”