तीन नगर निगम के मेयरों ने प्रदर्शन स्थल से कार्यालय का काम शुरू किया

नयी दिल्ली: निगमों का ‘‘बकाया” कोष जारी करने की मांग को लेकर अपना विरोध प्रदर्शन जारी रखते हुए दिल्ली (BJP) में भाजपा (BJP) शासित तीनों नगर निगमों के मेयरों (Mayor) ने दिल्ली के मुख्यमंत्री के आवास के बाहर सड़क पर ही अपने कार्यालय का संचालन सोमवार को शुरू किया। कोष जारी करने की मांग को लेकर निगम के नेताओं के धरने का आठवां दिन है।

उत्तरी दिल्ली के मेयर जयप्रकाश ने कहा कि हस्ताक्षर के लिए अधिकारी फाइलें ला रहे हैं। उन्होंने कहा कि सोमवार को साढ़े ग्यारह बजे अस्थायी कार्यालय की शुरुआत की गयी। दक्षिणी दिल्ली की मेयर अनामिका और पूर्वी दिल्ली के मेयर निर्मल जैन ने भी सड़क किनारे प्रदर्शन स्थल पर ही कार्यालय के काम किए । सिविल लाइंस इलाके में मुख्यमंत्री आवास के बाहर जहां शमियाना लगाया गया है वहां पर जयप्रकाश और निगम के अन्य नेता भी बैठे थे ।

एक तरफ ‘एनडीएमसी के मेयर’ के पोस्टर भी लगाए गए । दिल्ली के तीनों मेयरों ने शुक्रवार को धरना स्थल पर संवाददाता सम्मेलन किया था और कहा था कि लोकतांत्रिक तरीके से प्रदर्शन जारी रहेगा । तीनों मेयरों ने दावा किया है कि दिल्ली सरकार को उत्तरी, दक्षिणी और पूर्वी निगमों को 13,000 करोड़ रुपये के बकाया का भुगतान करना है ।

आम आदमी पार्टी ने पलटवार करते हुए कहा कि ‘‘किसानों के राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन से ध्यान भटकाने और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को परेशान करने के लिए भाजपा शासित एमसीडी के मेयर अपने आलाकमान के निर्देश पर प्रदर्शन कर रहे हैं।” (एजेंसी)