CBSE ने दिखाई इंसानियत, कोरोना की वजह से अपने माता-पिता खोने वाले बच्चों से नहीं लेगा परीक्षा शुल्क

    नई दिल्ली : कोरोना (Covid 19) के कारण कई लोगों ने अपनों को हमेशा के लिए खो दिया है। ऐसे में सबसे ज्यादा दुखद बात यह है कि कई बच्चों ने अपने माता पिता खो दिए है। अब इन बच्चों का बिना मां- बाप के क्या होगा ऐसा सवाल हम सभी के मन में है। लेकिन ऐसे नाजुक दौर में CBSE ने अपनी उदारता दिखाई है। सीबीएसई ने इन बच्चों के लिए एक अच्छा फैसला लिया है। 

    CBSE नहीं लेगा परीक्षा शुल्क 

    केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Central Board of Secondary Education) (सीबीएसई) ने कोविड महामारी के कारण अपने माता-पिता को खोने वाले छात्रों के लिए एक फैसला लिया है। उस फैसले के तहत केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, क्लास 10 वीं और 12 वीं की बोर्ड परीक्षाओं में बैठने के लिए कोई पंजीकरण या परीक्षा शुल्क (Exam Fee) नहीं लेगा।

    सीबीएसई परीक्षा नियंत्रक ने कहा….. 

    सीबीएसई ने परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा, ”कोविड-19 ने देश पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है और छात्रों पर इसके प्रभाव को ध्यान में रखते हुए सीबीएसई ने शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए राहत देने का फैसला किया है। बोर्ड द्वारा उन छात्रों से न तो परीक्षा शुल्क और न ही पंजीकरण शुल्क लिया जाएगा जिन्होंने माता-पिता दोनों या परिवार की देखभाल करने वाले अभिभावक अथवा कानूनी अभिभावक या दत्तक माता-पिता को कोविड-19 के कारण खो दिया है।’

    इसके आगे भारद्वाज ने कहा, ‘स्कूल कक्षा 10वीं और 12वीं की परीक्षा के लिए उम्मीदवारों की सूची प्रस्तुत करते समय इन छात्रों के बारे में सत्यापन करने के बाद ब्योरा जमा करेंगे।’