mahesh-manjrekar-booked-for-slapping-person-in-pune-road-rage-incident
File Photo

    फिल्म निर्माता महेश मांजरेकर के खिलाफ अपनी नयी मराठी फिल्म में महिलाओं और बच्चों को कथित तौर पर आपत्तिजनक तरीके से चित्रित करने के लिए बृहस्पतिवार को यहां एक अदालत में शिकायत दर्ज करायी गयी। क्षत्रिय मराठा सेवा संस्था ने बांद्रा मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट अदालत के समक्ष शिकायत दायर कर मांजरेकर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता तथा महिलाओं का अश्लील चित्रण (प्रतिषेध) कानून की विभिन्न धाराओं के तहत कार्रवाई की मांग की।

    शिकायतकर्ता ने मांजरेकर के अलावा नरेंद्र और श्रेयंस हीरावत तथा एनएच स्टूडियो को भी मामले में आरोपी बनाया है, जो फिल्म ‘नय वरण भट लोंचा कोन नय कोंचा’ के निर्माता हैं। वकील डी. वी. सरोज के जरिए दायर शिकायत में कहा गया है कि मराठी फिल्म में महिलाओं और बच्चों को अत्यंत आपत्तिजनक तरीके से दिखाया गया है। यह फिल्म 14 जनवरी को सिनेमा हॉल और ‘ओटीटी’ पर रिलीज़ हुयी थी।

    शिकायत के अनुसार यह फिल्म दिवंगत जयंत पवार की एक कहानी पर आधारित है और यह दो किशोर लड़कों पर केंद्रित है जो अभाव और प्रतिकूल परिस्थितियों का सामना करते हुए बड़े होते हैं और कट्टर अपराधी बन जाते हैं। इस मामले की सुनवाई 28 फरवरी को होगी। (भाषा)