स्पाइडर-मैन: टोरेंट वेबसाइटों पर नो वे होम की पायरेटेड कॉपीयों में क्रिप्टो-माइनिंग मालवेयर

    स्पाइडर-मैन: नो वे होम ग्लोबल थिएटरों में एक ब्लॉकबस्टर रही है, जो कई लोगों के पसंदीदा बचपन के सुपरहीरो की यादों को वापस लाती है। हालांकि, नई मार्वल फिल्म की पायरेटेड कॉपीयां डाउनलोड करने वालों को सिर्फ यादें ही नहीं मिल रही हैं, बल्कि पायरेटेड कॉपीयां क्रिप्टोकुरेंसी माइनिंग मालवेयर के साथ आती हैं।

    साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर्स ने चेतावनी दी है कि, टोरेंट वेबसाइट से स्पाइडर-मैन: नो वे होम की एक पायरेटेड कॉपी डाउनलोड करना एक माइनिंग मालवेयर के लिए एक निमंत्रण हो सकता है। रिसर्चर्स के अनुसार, “spiderman_net_putidomoi.torrent.exe” फ़ाइल के नाम से एक क्रिप्टोजैकिंग मालवेयर, इन्टरनेट पर शेयर किए जाने वाली कई पायरेटेड कॉपीयों में शामिल है।

    एक बार जब मालवेयर सिस्टम को इन्फेक्ट कर देता है, तो यह सफलतापूर्वक कंप्यूटर की कंप्यूटिंग एबिलिटी को हाईजैक कर लेता है और उसे प्राइवेसी टोकन मोनेरो के की माइनिंग की ओर रीडायरेक्ट कर देता है। एक ब्लॉग में, रीज़नलैब्स के रिसर्चर्स बताते हैं कि इस मालवेयर की सबसे अधिक संभावना रूसी टोरेंटिंग वेबसाइट में है।

    चूंकि यह एक क्रिप्टोजैकिंग मैलवेयर है, इसलिए यह टारगेट कंप्यूटर से जानकारी चुराने का प्रयास नहीं करता है। हालांकि, यह क्रिप्टोकरेंसी खनन के लिए पीसी के सीपीयू यूज़ में काफी वृद्धि करता है, जिससे बिजली बिल में वृद्धि होती है। शोधकर्ताओं ने चेतावनी दी है कि माइनर लंबे समय तक चलता है और धीरे-धीरे संक्रमित कंप्यूटर को धीमा कर देता है।

    रिसर्चर्स को अभी तक यह नहीं पता है कि मालवेयर को कितनी बार डाउनलोड किया जा चूका है। हालाँकि, वे उल्लेख करते हैं कि मालवेयर पिछले कुछ समय से अस्तित्व में है।

    मालवेयर का पता लगाना आसान नहीं है। रिसर्चर्स के अनुसार, एक बार मालवेयर एक सिस्टम को संक्रमित कर देता है। रिसर्चर्स ने लोगों को इस तरह के कंटेंट को अवैध स्रोतों से डाउनलोड करने को लेकर चेतावनी दी है।