cannes
Pic: Anurag Thakur

    नई दिल्ली. कांस फिल्म फेस्टिवल (Cannes Film Festival) से आ आरही बड़ी खबर के अनुसार यहां भारतीय फिल्ममेकर शॉनक सेन (Shaunak Sen) की डॉक्युमेंट्री ‘ऑल दैट ब्रीद्स’ (All That Breathes) को कांस फिल्म फेस्टिवल में बेस्ट डॉक्युमेंट्री का अवॉर्ड ‘लॉयल डीओर’ मिला है। पता हो कि यह फिल्म कांस में भारत की तरफ से अकेली एंट्री थी। पता हो कि ऑल दैट ब्रीद्स दो भाइयों की कहानी है जो दिल्ली के वजीराबाद में रहते हैं और घायल पक्षियों का रेस्क्यू और उनका इलाज भी करते हैं।

    यह भी बता दें कि, इस पुरस्कार को गोल्डन आई पुरस्कार के नाम से भी जाना जाता है। 2015 में फ्रांसीसी-भाषी लेखकों के समूह ‘लास्कैम’ ने कान फिल्म महोत्सव के साथ मिलकर इसकी शुरुआत की थी।

    गौरतलब ही कि हाल ही में, कान फिल्म फेस्टिवल में विशेष स्क्रीनिंग के दौरान यह डॉक्यूमेंट्री दिखाई गई थी। इसमें मोहम्मद सऊद और नदीम शहबाज नामक भाइयों के जीवन को दर्शाया गया है, जो दिल्ली के एक गांव वजीराबाद में घायल पक्षियों का और विशेष रूप से काली चीलों को बचाते और उनका इलाज करते हैं।

    कान निर्णायक मंडल ने 90 मिनट लंबी इस फिल्म को विजेता चुना। इस पुरस्कार के विजेता को तहत पांच हजार यूरो की नकद राशि भी दी जाती है।