Mulurchak village organization confiscated liquor

तहसील के मुलूरचक में विगत 20-25 वर्षों से शराबबंदी थी।

आरमोरी. तहसील के मुलूरचक में विगत 20-25 वर्षों से शराबबंदी थी। किंतु बाहर से आनेवाले विक्रेताओं ने फिर से शराबबिक्री शुरू कर गांव की शांति भंग कर दी है। जिससे गांव संगठन ने बैठक का आयोजन कर अहिंसक कृति करने का निर्णय लिया। जिसके तहत गांव के शराब विक्रेताओं के घर की जांच कर शराब बनाने  की सामग्री जब्त की तथा फिर से शराबबिक्री न करने की चेतावनी दी।

मुलचूरक में पिछले 25 वर्षों से शराबबंदी थी। किंतु अन्य जगह से आकर गांव में बसे 2 लोगों ने गांव में शराब बिक्री शुरू की। अरसोडा के भी कुछ विक्रेता जंगल का सहारा लेकर शराब की बिक्री करने लगे। उन अवैध शराब विक्रेताओं को समझाये जाने पर, उन्होंने मारने की धमकी दी। इसकी जानकारी गांव संगठन के महिलाओं ने मुक्तीपथ तहसील टीम को दी।

जिसके अनुसार गांव में बैठक का आयोजन कर अहिंसक कृति करने का निर्णय लिया गया। जिसके तहत गांव में शराब बिक्री करनेवालों के घर की तलाशी लेकर शराब बनाने की सामग्री जब्त की। गांव में पुन: शराब बिक्री करने पर पुलिस के हवाले करने की चेतावनी दी है।