Electricity

    सालेकसा . विगत दो से तीन माह से बिजली विभाग ने अपने ही ग्राहकों को तरसाना शुरू कर दिया है. बिजली कब गुल हो जाएगी इसके बारे में कहा नहीं जा सकता. हर आधे घंटे में बिजली का गुल होना आम बात हो चुकी है. विद्युत विभाग से इसकी अनेक बार शिकायत की गई लेकिन सतत अनदेखी जारी है. एक-दो दिन में सब कुछ ठीक हो जाएगा, यह कहकर बात टाल दी जाती है.

    कभी-कभी इसका ठीकरा ठेकेदार पर फोड़ अपना हाथ खींच देना अधिकारियों आदत बन गई है. आखिर ऐसा कब तक चलेगा? बिजली की आंखमिचौली से बिजली से चलने वाले उपकरण जैसे पंखा, कूलर, फ्रिज, टीवी आदि बिगड़ चुके हैं और ग्राहकों आर्थिक बोझ वहन करना पड़ रहा है.

    उक्त मामलों को देखते हुए तहसील वासियों ने मांग की है कि विद्युत विभाग के अडियल रवैये पर प्रशासन द्वारा नकेल कसी जाए अथवा बिजली को पूरी तरह सिरे से खारिज कर दिया जाए ताकि कम-से-कम बिजली बिल के आर्थिक बोझ से मुक्ति मिले.

    स्थानीय जनप्रतिनिधियों से भी अपील की गई कि इस समस्या पर अपना ध्यान केंद्रित कर जनता को इससे मुक्ति दिलाने का प्रयास करें और बिजली विभाग से भी आग्रह किया गया है कि ग्राहकों से बिलों की वसूली का काम कर रहे हैं उसी तरह बिजली की भी सुचारू आपूर्ति  करें.