fastag toll tax

नई दिल्ली: केंद्रीय परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin gadkari) ने टोल नाका (Toll Plaza) को लेकर बड़ी घोषणा की है। उन्होंने कहा कि, “आने वाले दो साल में हम भारत को टोल नाका से मुक्त होगा।” गुरुवार को एसोचैम द्वारा आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने यह बात कही।

केंद्रीय मंत्री ने कहा, “हम देश को टोल नाका मुक्त करने को लेकर रूस की मदद से ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम को अंतिम रूप देने की ओर है। आने वाले दो साल में टोल आपके लिंक बैंक खाते से कट जाएगा, जिससे टोल समाप्त होगा।” वर्तमान में सभी कमर्शियल वाहन जीपीएस सिस्टम से लैस हैं, सरकार की मंशा पुराने वाहनों में भी इसे लगाना है।

134,000 करोड़ बढ़ेगी आय

नितिन गडकरी ने कहा, “देश में जीपीएस सिस्टम को लागू करने के लिए बुधवार को एनएचएआई और मंत्रालय के अधिकारियों के बीच बैठक बुलाई गई थी। इस बैठक में जीपीएस सिस्टम को लेकर एक प्रेजेंटटेशन प्रस्तुत किया गया। जिसमें बताया गया कि अगर इसे देश में लागू किया जाता है तो एनएचएआई की 134,000 करोड़ की अतिरिक्त आय बढ़ेगी।”  

एक साल पहले ही फास्टैग किया लागू

केंद्र सरकार ने देश में सुगम यातायात के लिए कई कदम उठाए हैं। इसी क्रम में एक साल पहले पूरे देश में फास्टैग सिस्टम लागू किया गया है, जिससे टोल नाके पर गाड़ियों की भीड़ कम की जा सके। फास्टैग की वजह से एक ओर जहां ईंधन के खपत में कमी आई है, वहीं दूसरी ओर वायु प्रदूषण में भी कम हुआ है।